Wednesday, Dec 08, 2021
-->
Babu of electricity department trapped: On the radar of income tax, serious allegations

फंसा बिजली विभाग का बाबू : इनकम टैक्स की रेडार पर, लगे गंभीर आरोप

  • Updated on 10/12/2021

नई दिल्ली/टीम डिजीटल। बिजली विभाग का रिटायर्ड बाबू विवादों में घिर गया है। बाबू पर सरकारी सेवा में रहते समय गैरकानूनी तरीके से अकूत संपत्ति अर्जित करने का आरोप मढ़ा गया है। यह भी आरोप है कि कॉपर व ट्रांसफार्मर के पार्ट्स एवं तेल की चोरी कर वारे-न्यारे किए गए। शिकायत मिलने पर आयकर विभाग ने भी इस प्रकरण का संज्ञान ले लिया है। राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग (एनएचआरसी) में भी बाबू के कारनामों की शिकायत की गई है। जनपद गाजियाबाद में यह मामला प्रकाश में आया है। मोदीनगर की जगतपुरी कॉलोनी निवासी मोहित पुत्र जयप्रकाश की शिकायत पर आयकर विभाग ने बिजली विभाग के रिटायर्ड बाबू के खिलाफ संज्ञान लिया है।

आयकर संयुक्त निदेशक (मुख्यालय) नई दिल्ली ने इस बावत आयकर महानिदेशक (अन्वेषण) आयकर भवन, एनेक्स अशोक मार्ग लखनऊ को पत्र भेजकर उचित कार्रवाई करने को कहा है। दरअसल यह मामला उत्तर प्रदेश से जुड़ा होने के कारण विवेचना की जिम्मेदारी लखनऊ स्तर से सौंपी जानी है। रिटायर्ड बाबू के विरूद्ध गैर कानूनी तरीके से संपत्ति अर्जित करने एवं कर अपवंचन संबंधी शिकायत मिली है। शिकायत कर्ता मोहित का आरोप है कि संबंधित कर्मचारी बिजली विभाग में स्टोर बाबू के पद पर तैनात था। सरकारी सेवा के दरम्यान बाबू ने अपने पद का दुरूपयोग कर खूब कमाई की। यह भी आरोप है कि कॉपर व ट्रांसफार्मर के उपकरण और तेल की चोरी कर मोटी कमाई की गई।

रिटायर्ड बाबू के सगे-संबंधियों के नाम पर भी करोड़ों रुपए की प्रॉपर्टी है। बिजली विभाग की तरफ से पूर्व में भी उसके विरूद्ध एफआईआर दर्ज कराई गई थी। आरोप है कि बसपा सरकार के कार्यकाल में बाबू ने सेटिंग के बल पर खुद को कानूनी पचड़े से बचा लिया था। इस मामले में शिकायत किए जाने पर आरोपी रिटायर्ड बाबू व उसके साथी अब शिकायत कर्ता की जान के पीछे पड़ गए हैं। उसे और उसके परिवार को अंजाम भुगतने की धमकी दी जा रही है। पीड़ित ने राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग (एनएचआरसी) नई दिल्ली के अलावा पुलिस-प्रशासन के उच्चाधिकारियों से भी शिकायत कर पूरे मामले की जांच कराकर दोषियों पर कार्रवाई करने की अपील की है।

comments

.
.
.
.
.