Sunday, Sep 26, 2021
-->

टाइपिंग की गलती से रिहा हो गया डबल मर्डर का आरोपी

  • Updated on 4/4/2017

Navodayatimesनई दिल्ली/ब्यूरो। दिल्ली उच्च न्यायालय में टाइपिंग की गलती से दोहरे हत्याकांड का दोषी रिहा हो गया।  उच्च न्यायालय ने पिछली गलतियों को अपने पुराने आदेश में से हटाने व दिल्ली पुलिस आयुक्त को हत्यारे की तलाश कर जल्द से जल्द उसे सलाखों के पीछे बंद करने का निर्देश दिया है। अदालत ने मामले में शिकायतकर्ता व गवाहों को भी सुरक्षा प्रदान करने का निर्देश दिया है।

कर्नाटक में डिप्टी और असिस्टेंट कमिश्नर पर रेत माफिया का हमला, मर्डर की कोशिश

हत्या के बाद चश्मदीद की भी गोली मार की थी हत्या

10 मार्च 1999 में जितेंद्र उर्फ काला ने उत्तरी दिल्ली में एक शादी समारोह में अनिल भड़ाना की गोली मारकर हत्या कर दी थी। अनिल उस समय दिल्ली विश्वविद्यालय के सत्यवती कॉलेज स्टूडेंट यूनियन का अध्यक्ष था। इसके अगले दिन जितेंद्र इस हत्या के चश्मदीद गवाह सुमित नायर के घर पहुंचा। जहां उसके नहीं मिलने पर उसने उसके पिता केएल नायर की तीन गोली मारकर हत्या कर दी थी।

अभियोजन पक्ष ने अदालत को बताया था कि जितेंद्र के खिलाफ एक आपराधिक मामले में अनिल गवाह था जिसके चलते उसने उसकी हत्या की। निचली अदालत ने जितेंद्र को एक मामले में 30 साल की सजा व दूसरे में उम्रकैद की सजा सुनाई थी।

निचली अदालत के फैसले को उच्च न्यायालय में दी थी चुनौती

जितेंद्र ने इस आदेश को उच्च नयायालय में चुनौती दी थी। इस दौरान दिसंबर 2016 में अदालत में टाइपिंग की गलती से इस याचिका के आदेश में यह लिखा गया कि दोषी ने अपनी सजा के 16 साल 10 माह जेल में काट लिए हैं अगर किसी अन्य केस में दोषी की जरूरत न हो तो उसे रिहा कर दिया जाए। जितेंद्र के रिहा होने के बाद मामले में गवाह रहे तीन लोगों ने अदालत में अपील दायर की।

आंकड़ों से जानिए आखिर कैसे दिल्ली बनी रेप की राजधानी

फिर 14 फरवरी 2017 को न्यायमूर्ति जीएस सिस्तानी व न्यायमूर्ति संगीता ढींगरा सहगल की खंडपीठ ने अपने पुराने आदेश में लिखी उक्त पंक्तियों को हटाया। इसके बाद 22 मार्च को खंडपीठ ने पुलिस आयुक्त को दोषी को ढूंढ़ लाने व शिकायतकर्ता, गवाहों को सुरक्षा प्रदान करने का निर्देश दिया है। अदालत ने तिहाड़ जेल सुपरिटेंडेंट को भी मामले में उचित कार्रवाई कर अदालत को बताने को कहा है।   

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.