Monday, May 23, 2022
-->
BJP MLA''s brother ''abducted'' heavy on police, search for 13 months

पुलिस पर भारी भाजपा विधायक के भाई की ‘फरारी’, 13 माह से तलाश

  • Updated on 11/7/2021

नई दिल्ली/टीम डिजीटल। नरेश त्यागी हत्याकांड में पिछले करीब 13 माह से फरार भाजपा विधायक के बड़े भाई को अब तक पुलिस ने गिरफ्तार नहीं किया है। पीड़ित पक्ष ने पुलिस पर राजनीतिक दबाव में काम करने का आरोप लगाया है। 2 दिन के भीतर आरोपी की गिरफ्तारी न होने पर पीड़ित परिवार ने लखनऊ जाकर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को अपनी व्यथा सुनाने की बात कही है। आरोपी पर इनाम घोषित न किए जाने पर भी सवाल उठाए गए हैं। जनपद गाजियाबाद के सिहानी गेट थानांतर्गत लोहिया नगर में विगत 19 अक्तूबर 2020 को नरेश कुमार त्यागी की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। 

नरेश त्यागी हत्याकांड में घिरी पुलिस
वारदात के बाद एकाएक सनसनी फैल गई थी। आरोप है कि शार्प शूटरों को 2 लाख की सुपारी देकर इस वारदात को अंजाम दिलाया गया था। पुलिस ने इस मामले में आरोपी विपिन शर्मा, मनोज शर्मा, अर्पन चौधरी व जितेंद्र त्यागी को गिरफ्तार कर लिया था। जबकि नामजद अभियुक्त गिरीश पाल त्यागी वारदात के 13 माह बाद भी फरारी काट रहा है। हत्यारोपी गिरीश राजनीतिक घराने से ताल्लुक रखता है। गिरीश के पिता यूपी के पूर्व कैबिनेट मंत्री रह चुके हैं। जबकि छोटे भाई अजीत पाल त्यागी वर्तमान में मुरादनगर से भाजपा विधायक हैं। 

सीएम से मिलेगा पीड़ित परिवार
दिवंगत नरेश त्यागी के परिजनों ने रविवार को पत्रकार वार्ता कर इस मामले में पुलिस और आरोपी पर गंभीर आरोप लगाए। नरेश त्यागी के पुत्र अभिषेक त्यागी का कहना है कि यदि 9 नवम्बर तक गिरीश पाल त्यागी की गिरफ्तारी नहीं होती तो पूरा परिवार लखनऊ जाकर सीएम योगी आदित्यनाथ से मुलाकात कर उन्हें आपबीती बताएगा। अभिषेक ने कहा कि चूंकि गिरीश के भाई सत्ताधारी दल से विधायक हैं, लिहाजा पुलिस इस मामले में लीपा-पोती कर रही है। अब तक गिरीश पर इनाम तक घोषित नहीं किया गया है। यदि पुलिस इनाम लगाती है तो वह खुद इनामी राशि देने को तैयार हैं। पीड़ित परिवार ने अपनी जान को खतरा बताया है। पुलिस कार्यप्रणाली को कटघरे में खड़ा किया गया है। 

comments

.
.
.
.
.