Tuesday, Nov 29, 2022
-->
bloody clash between jamia students, were called from haryana, rogues

जामिया के छात्रों में खूनी झड़प, हरियाणा से बुलाए गए थे बदमाश

  • Updated on 10/1/2022

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। एनआईआएफ रैंकिंग -2022 में देश यूनिवर्सिटीज में तीसरा स्थान प्राप्त करने वाली जामिया मिलिया इस्लामिया का पुस्तकालय वीरवार रात खूनी संघर्ष का मैदान बन गया। यहां छात्रों के दो गुट आपस में भिड़ गए, जिसके बाद दोनों ओर से एक दूसरे पर न सिर्फ डंडे और वहां रखीं कुर्सियों और मेजों से हमला किया गया, बल्कि गोलियां भी चली हैं।

जब इस संघर्ष में घायल एक छात्र को पास के अस्पताल  ले जाया गया, तो वहां उसका हालचाल पूछने पहुंचे एक छात्र के सिर में दूसरे गुट के छात्र ने गोली मार दी और फरार हो गया। घायल छात्र की पहचान मेरठ निवासी नोमान चौधरी (26) के रूप में की गई है। जबकि हमलावर की पहचान मेवात निवासी जलालुद्दीन उर्फ जलाल के रूप में हुई है। 

घटना की सूचना पुलिस को वीरवार रात करीब 8.51 बजे तब मिली जब होली फैमिली अस्पताल से किसी ने जामिया नगर थाना पुलिस को फोन किया। बताया कि यहां मारपीट में घायल कुछ छात्रों को इलाज के लिए लाया गया था। उसी दौरान घायल छात्र को देखने पहुंचे एक छात्र के सिर में किसी ने गोली मार दी है। 

सूचना पर पहुंची पुलिस को पता चला कि गोली लगने से घायल छात्र मेरठ निवासी नोमान चौधरी है, जोकि एलएलएम दूसरे वर्ष का छात्र है। उसकी गंभीर स्थिति को देखते हुए उसे तत्काल एम्स ट्रामा सेंटर भेज दिया गया है। 

पुलिस अधिकारी ने बताया कि पूछताछ में पता चला कि जामिया के पुस्तकालय में देर शाम छात्रों के दो गुटों में झगड़ा हो गया था। यह झगड़ा खूनी संघर्ष में बदल गया। इसमें नोमान अली गंभीर रूप से घायल हो गया। उसे अस्पताल में ले जाया गया था। जहां उसका इलाज चल रहा था, उसे देखने के लिए नोमान चौधरी पहुंचा था। इसी दौरान दूसरे गुट का युवक मेवात निवासी जलाल अपने कुछ बाहरी दोस्तों, जिसे उसने हरियाणा से बुलाया था, पहुंच गया और उसने नोमान चौधरी के सिर में गोली मार दी और फरार हो गया। इस घटना की जानकारी न्यू फ्रेंड्स थाना पुलिस को दी गई। 

दक्षिणी पूर्वी जिला पुलिस डीसीपी ईशा पांडेय ने शुक्रवार को बताया कि जामिया नगर और न्यू फ्रेंड्स कालोनी थाने में इस संबंध में प्राथमिकी दर्ज की गई और आगे की कार्रवाई की जा रही है। मौके पर अपराध की टीम के अलावा स्थानीय पुलिस की टीम भी पहुंची थी और वहां से साक्ष्यों के आधार पर आगे की कानूनी कार्रवाई की जा रही है। 

19 से ही लागू है निषेधाज्ञा

यूनिवर्सिटी के मुख्य प्रॉक्टर ने 27 सितम्बर को आधिकारिक बयान जारी करते हुए बताया था कि उन्हें जामिया नगर थाने के एसएचओ ने सूचित कर बताया था कि धारा 144 की पाबंदियां ओखला के बाहरी इलाकों के साथ ही यूनिवर्सिटी कैंपस में भी लागू होंगी, जोकि 19 सितम्बर से ही लागू किया जा चुका है।

उन्होंने बताया था कि पुलिस ने आशंका व्यक्त की थी कि कुछ लोगों या समूह द्वारा इलाके की शांति व्यवस्था भंग करने वाली गतिविधियों में शामिल होने की सूचना है। कहा गया था कि यह आदेश 17 नवम्बर तक पूरे ओखला (जामिया नगर) क्षेत्र में  लागू रहेगा। जिसमें दक्षिण पूर्वी दिल्ली के पूरे अधिकार क्षेत्र में मशाल या मोमबत्ती जला कर जुलूस निकालना या किसी भी रूप में रैलियां निकालने पर रोक लगा दी थी।

दो अलग-अलग थानों में दर्ज की एफआईआर

इधर पुलिस ने दोनों पक्षों की शिकायत पर दो अलग-अलग थानों में दोनों पक्षों पर एफआईआर दर्ज की है। इसमें दोनों पक्षों के आरोपियों के खिलाफ पुलिस ने हत्या की कोशिश, गैर इरादतन हत्या का प्रयास, आम्र्स एक्ट व अन्य धाराओं में एफआईआर दर्ज की है। इस एफआईआर में घायल हुए दोनों छात्रों का भी नाम है।

इसमें जामिया नगर थाना में नोमान अली, नोमान चौधरी और अब्दुल हनान नामक छात्र के खिलाफ मामला दर्ज किया है। वहीं न्यू फ्रैंड्स कॉलोनी थाने में गोली मारने के आरोपी जलालुद्दीन उर्फ जलाल, कप्तान भड़ाना, श्मशाद, राहिल, मो. युसूफ और शब्बीर के खिलाफ मामला दर्ज किया है। अभी किसी भी आरोपी की गिरफ्तारी नहीं की गई है। इनमें से जहां दो आरोपी अस्पताल में अपना इलाज करवा रहे हैं, वहीं अन्य फरार बताए जा रहे हैं। 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.