Saturday, Jul 24, 2021
-->
bloody clash between two communities over construction of boundary walls of temple albsnt

उत्तराखंडः मंदिर की चारदीवारी निर्माण को लेकर दो समुदायों में खूनी संघर्ष

  • Updated on 10/30/2020

रुड़की/ब्यूरो। उत्तराखंड में लक्सर के गांव बाड़ी टीप में शुक्रवार की सुबह धर्म स्थल को लेकर चले आ रहे विवाद ने तूल पकड़ लिया। दो समुदाय के लोगों के बीच खूनी संघर्ष हुआ। सांप्रदायिक तनाव को देखते हुए पीएसी एवं पुलिस फोर्स ने गांव में डेरा डाला हुआ है। खूनी संघर्ष में एक दर्जन ग्रामीण घायल हुए हैं। पुलिस ने कार्रवाई करते हुए दोनों पक्षों के कुछ लोगों को हिरासत में ले लिया है। 

उत्तराखंडः तिब्बती स्कूल में मारपीट के बाद नेपाल के सात बच्चे भागे

क्षेत्र के गांव बाड़ी टीप में काली मंदिर की चारदीवारी के निर्माण को लेकर दो समुदाय के बीच तनातनी चली आ रही थी। शुक्रवार की सुबह जब एक समुदाय से जुड़े लोग मंदिर के निर्माण कार्य में जुटे थे, तो दूसरे समुदाय के लोगों ने लाठी-डंडों से लैस होकर उन पर हमला बोल दिया। हमले की खबर गांव में फैलते ही निर्माण करा रहे समुदाय से जुड़े लोग भी मौके पर पहुंच गए। दोनों पक्षों में जमकर लाठी-डंडे चले। एक पक्ष की महिलाओं ने तो दूसरे पक्ष के लोगों की आंखों में मिर्ची पाउडर तक उड़ेल दिया। हमले में शिव कुमार, तेजपाल, हरिद्वारी, सोमपाल, धर्मवीर, ग्राम प्रधान अनिल कुमार सैनी, मोनू, रामफल सहित एक दर्जन लोग घायल हो गए। आनन-फानन में पुलिस के आला अफसर घटनास्थल पर पहुंचे। पुलिस फोर्स ने लाठियां फटकार कर दोनों पक्षों को मौके से खदेड़ा।

उत्तराखंड में विपक्ष ने मांगा मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र का इस्तीफा 

पुलिस ने दोनों पक्षों के कुछ लोगों को हिरासत में लिया है। भाजपा विधायक यतीस्वरानंद और संजय गुप्ता के पहुंचने पर राजनीति गरमा गई। यतीश्वरानंद ने आरोप लगाया कि वीरवार शाम एसडीएम हरिद्वार और पुलिस को सूचना देकर बताया था कि बाडीटीप गांव में धार्मिक स्थल पर हो रहे निर्माण कार्य का दूसरे समुदाय के लोग विरोध कर रहे हैं। अगर समय रहते एसडीएम और पुलिस मामले में संज्ञान लेते तो विवाद की स्थिति नहीं बनती। सीओ लक्सर राजन सिंह और कोतवाली प्रभारी हेमेंद्र सिंह नेगी खुद गांव में कैंप किए हुए हैं। सीओ ने बताया कि फिलहाल इस संबंध में कोई मुकदमा दर्ज नहीं किया गया है। शिकायत मिलने पर मुकदमा दर्ज किया जाएगा।
 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.