Thursday, Aug 18, 2022
-->
brother-and-sister-absconding-for-15-years-arrested-in-kidnap-and-rape-case

किडनैप और रेप केस में 15 साल से फरार भाई-बहन गिरफ्तार

  • Updated on 3/31/2022

नई दिल्ली। टीम डिजिटल। नाबालिग के किडनैप एवं रेप केस में फरार चल रहे भाई-बहन को दिल्ली क्राइम ब्रांच  ने गिरफ्तार किया। इनकी पहचान जोगिंद्र और कमलेश के तौर पर हुई है। वह बीते 15 साल से फरार चल रहे थे जबकि 2009 में उन्हें अदालत ने भगोड़ा घोषित किया था। 
डीसीपी दीपक यादव के मुताबिक, साल 2006 में नांगलोई थाने में किडनैप और रेप का एक केस दर्ज किया गया था। शिकायतकर्ता ने पुलिस को बताया था कि 14 अप्रैल 2006 की दोपहर उसकी 13 वर्षीय बेटी दोस्त के घर जाने के लिए निकली थी, लेकिन वापस घर नहीं लौटी। उसने अपनी बेटी की गुमशुदगी दर्ज कराई थी उसने पुलिस को बताया कि जोगिंदर और उसकी बहन कमलेश किशोरी के अपहरण के पीछे हो सकते हैं। उसके शक के आधार पर अपहरण का मामला दर्ज किया गया था। छानबीन के दौरान पुलिस ने जोगिंदर और कमलेश की तलाश की, लेकिन वह फरार हो चुके थे। किशोरी की तलाश में छापेमारी कर रही पुलिस टीम ने इस बच्ची को तलाश लिया था। उसका मेडिकल कराया गया, जिसके बाद इस मामले में दुष्कर्म की धारा को भी जोड़ा गया। सितंबर 2009 में तीस हजारी स्थित गौरव राव की अदालत ने उन्हें भगोड़ा घोषित कर दिया था। इस मामले में क्राइम ब्रांच की इंटरेस्ट रेट सेल को कुछ सुराग मिले थे इसकी मदद से टीम ने अलीगढ़ स्थित उनके गांव में छापा मारा, लेकिन वह नहीं मिले। पुलिस को पता चला कि दोनों भाई-बहन कभी-कभी अपने गांव आते हैं जोगिंदर अभी भी अविवाहित है और वह दिल्ली एनसीआर में राजमिस्त्री का काम करता है। वहीं उसकी बहन का विवाह हो चुका है और वह दिल्ली स्थित चंदन विहार में रहती है।
पुलिस टीम ने छानबीन करते हुए अलीगढ़ से जोगिंदर को उस समय गिरफ्तार कर लिया जब वह गांव गया हुआ था उससे हुई पूछताछ के बाद कमलजीत उर्फ कमलेश को पुलिस ने कड़कडड़ूमा के पास से गिरफ्तार कर लिया। पूछताछ में आरोपियों ने बताया कि जोगिंद्र नांगलोई इलाके में राजमिस्त्री का काम करता था और अपनी बहन के घर पर रहता था यहां पर वह बच्ची के पिता से मिला जो मजदूरी करता था। वह लड़की को अच्छी नौकरी दिलाने के बहाने ले गया था वह उसे अपने गांव ले गया जहां पर उसने किशोरी के ऊपर शादी का दबाव बनाया और उसके साथ जबरन संबंध बनाएं। इस मामले में पुलिस ने जब दबाव बनाया तो वह उसे आनंद विहार बस स्टॉप के पास छोड़ कर भाग गया था।
 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.