brother-beaten-sister-after-buying-hundred-rupees-suit-eyes-closed-and-locked-in-room

रक्षाबंधन : सौ रुपए का सूट खरीदने पर भाई ने बहन को पीटा, आंखें फोड़कर कमरे में किया बंद

  • Updated on 8/14/2019

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। मात्र सौ रुपए का सूट एक बहन के सुखमय जीवन पर हमेशा के लिए कष्टदायी साबित हुआ है। उसके भाई ने उसकी इस ‘गुस्ताखी’ के लिए ऐसी सजा दी कि सुनकर रूह कांप उठे। उसकी पिटाई की और दोनों आंखें फोड़ दीं। जुल्म की इंतहा यहीं नहीं रुकी। भाई ने उसे कमरे में कैद कर दिया।

कांग्रेस नेता शशि थरूर के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी, दिया था हिंदू पाकिस्तान वाला बयान

बहन घायल अवस्था में जाने कब तक कमरे में बंद रहती, वो तो दिल्ली महिला आयोग की टीम वहां पहुंच गई और उसे मुक्त कराकर अस्पताल में भर्ती कराया। दरअसल, दिल्ली महिला आयोग की ‘महिला पंचायत’ की सदस्याओं ने डोर-टू-डोर विजिट का कार्यक्रम उस इलाके में रखा था। घर-घर जाकर महिलाएं सबका हाल-चाल ले रहीं थी कि उन्हें बंद कमरे में एक लड़की के चीखने-चिल्लाने की आवाजें सुनीं तो पूरा मामला सामने आया।

जम्मू-कश्मीर: 15 अगस्त को श्रीनगर में झण्डा नहीं फहराएंगे शाह, कश्मीर जाने का भी नहीं है कोई प्लान

आंख फोडऩे के बाद किया कैद
फिलहाल लड़की को चिकित्सा के लिए सफदरजंग अस्पताल में भर्ती करवाया गया है। मामला द्वारका का है, जहां उसके भाई ने आंख फोडऩे के बाद लड़की को कैद करके रखा हुआ था।  महिला आयोग के मुताबिक बिहार की रहने वाली 20 वर्षीय लड़की की दोनों आंखें बेरहमी से फोड़ी गईं थी। ऐसा करने वाला उसी का 17 साल का छोटा भाई है। आंख फोडऩे के बाद उसके भाई ने बिना किसी चिकित्सकीय सहायता के ही उसे तड़पते हुए बंद कर दिया।

दिल्ली: उजबेकिस्तान की महिला के साथ कार में हुआ गैंगरेप, दोस्त ने किया ये कुकर्म

फर्श पर खून से लथपथ हालत में पाया
आयोग की टीम के विजिट के दौरान चीखने की आवाज सुनने पर जब पड़ोसियों से पूछताछ की गई तो उन्होंने बताया कि लड़की की पिटाई उसका भाई आमतौर पर करता है। तत्काल कार्रवाई करते हुए आयोग की टीम घर में घुसी, तो भाई ने उनके साथ दुव्र्यवहार किया और उन पर हमला करने की धमकी दी। किसी तरह टीम लड़की तक पहुंचने में कामयाब रही और शर्मिला को फर्श पर खून से लथपथ हालत में पाया। उसकी आंखें बुरी तरह घायल थीं तथा चोट के कारण चेहरे पर सूजन थी। मौके पर आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल व सदस्य फिरदौस और किरण नेगी भी अस्पताल में लड़की की हालत का जायजा लेने पहुंची। स्वाति ने संबंधित एसएचओ को लड़के के खिलाफ कार्रवाई करने के लिए नोटिस किया है। इसके साथ ही लड़की को मुआवजा दिलवाने के लिए भी आयोग ने अदालत का दरवाजा खटखटाया है। 

स्कूल के भीतर सफाईकर्मी ने किया बच्ची से दुष्कर्म, घटना के बाद से अभिभावकों में जबरदस्त रोष

मां-बाप नहीं थे घर पर, लड़की सदमे में
आयोग ने बताया कि लड़की पूरी तरह से सदमे में है। डॉक्टर उसकी आंखों की क्षति का आंकलन कर रहे हैं, उसके चेहरे पर सूजन कम होने का इंतजार किया जा रहा है। जब लड़की के साथ मारपीट की गई, तब उसके मां-बाप गांव में थे। सूचना मिलते ही वो लोग लड़की की देखभाल के लिए दिल्ली आ गए हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.