brothers-burnt-acid-with-acid-mother-abandoned-the-hospital

भाइयों ने तेजाब से जलाया चेहरा, मां ने अस्पताल में छोड़ा बेसहारा

  • Updated on 5/16/2019

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। दो दिन बाद जैसे ही उसे होश आया उसके मुंह से निकला ‘मां’ जिसे वह आंख खुलते ही उसे देखना चाहती है, लेकिन उसे क्या पता था कि उसकी मां ने ही उसे दो दिन पहले अस्पताल में भर्ती कराया और बेसहारा छोड़कर चली गई। यहीं नहीं ये भी बता दें कि अस्पताल में जिंदगी और मौत से जूझ रही ये लड़की की ये हालत किसी और ने नहीं उसके दो सगे भाइयों ने की है। ये कहानी है बुलंदशहर और गौतमबुद्ध नगर जिले की सीमा के पास रहने वाली सलमा की। सलमा का कसूर सिर्फ इतना था कि उसे पड़ोस में रहने वाले एक लड़के से प्यार हो गया था,जिसके बाद  गुस्साए भाइयों ने उस पर तेजाब फेंक जिंदा जलाने की कोशिश की। यही नहीं दोनों भाइयों ने सलमा पर तेजाब फेंकने के बाद उसे दादरी के पास एक सुनसान सड़क पर कार से नीचें से फेंक दिया,जिसे बाद में मां और पुलिस ने अस्पताल में भर्ती कराया। सलमा ये बयान दिल्ली महिला आयोग और दिल्ली पुलिस को दे रहीं थी और बता रही थी कि किस तरह से उसे यातनाएं देकर यहां बेसहारा छोड़ दिया गया है। सलमा इस समय सफदरजंग के बर्न वार्ड के आईसीयू में भर्ती है। दूसरी तरफ घटना को बीते एक सप्ताह से ज्यादा हो गए  हैं, लेकिन मामले में दादरी पुलिस ने अभी तक  आरोपी भाई इरफान और रिजवान को गिर$फ्तार नहीं किया है।

परिवार ने छोड़ा तो अस्पताल बना सहारा : सफदरजंग अस्पताल ने सलमा के मामले में एक मिसाल कायम की है। मां और भाइयों से दुत्कारे जाने के बाद प्रबंधन ही उसका ख्याल रख रहा है। पुलिसकर्मी उसके लिए पानी, जूस ला रहे हैं। एक महिला कांस्टेबल भी तैनात की गई है। सलमा से मिलने इसी दौरान दिल्ली महिला आयोग की काउंसलर की टीम ने सलमा से मुलाकात की, लेकिन वह बहुत मुश्किल ही कुछ कह पा रही थी।

डीसीडब्ल्यू और दिल्ली पुलिस ने सुनी आपबीती
दिल्ली महिला आयोग की टीम ने सलमा से मुलाकात की और उसने जो बातें बयां की, उससे आयोग की टीम के सदस्यों के आंखों से आंसू निकल आए। सलमा ने बताया कि वह किसी से प्यार नहीं करती थी,लेकिन पड़ोस में रहने वाले एक लड़के को पसंद करती थी,बस इसी बात से गुस्साए दोनों भाइयों ने उसका ये हश्र कर दिया। सलमा तेजाब से मुंह, हाथ और गर्दन पूरी तरह से जल गई है।

भाइयों ने शहर दिखाने के लिए कार में बिठाया फिर फेंका तेजाब
ग्रेनो के एसपी विनीत जयसवाल के मुताबिक, आरोपी भाई  इरफान और रिजवान नोएडा और बुलंदशहर की प्राइवेट कंपनियों में काम करते हैं। उनके पिता बुलंदशहर के गुलावाली गांव में फल बेचते हैं। परिवार अलीगढ़ से ताल्लुक रखता है। यह परिवार किराये के मकान में रहता है। सलमा की पढ़ाई बीच में छूट चुकी है। विनीत जायसवाल ने कहा कि पुलिस ने सलमा के परिवार के अन्य सदस्यों से बात की है उनके मुताबिक, जिस व्यक्ति के साथ उसका अफेयर था वह उसके मकान मालिक का बेटा है। एसपी ने बताया कि मामले में दबिश जारी है, जल्द ही आरोपियों की गिरफ्तारी हो जाएगी। एसपी के मुताबिक, सलमा और उनके भाई एक पारिवारिक फंक्शन में हिस्सा लेने अलीगढ़ गए हुए थे। घर लौटने के दौरान सलमा पर हमला हुआ, जब वे नोएडा की तरफ लौट रहे थे तो भाइयों ने कथित रूप से सलमा से कहा कि वह उन्हें शहर दिखाएंगे।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.