Friday, Jun 21, 2019

कर्जदारों के दबाव में कारोबारी ने लगाई फांसी, सुसाइड नोट में बच्चों को लेकर लिखी ये बात

  • Updated on 3/29/2019

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। तीनों बेटियों की पढ़ाई का ध्यान रखना व बेटे को ठीक से पढ़ाना मै परेशान हूं और अब तुम्हारा साथ नहीं दे सकूंगा। मुझे भूल जाना व अपना जीवन जीना। तीनों बेटियों को ठीक से रखना व पढ़ाना लिखाना।  

यह लाइनें एक कारोबारी ने अपने सुसाइड नोट में अपने परिजनों के लिए लिखी। लिए गए कर्ज से कई गुना ज्यादा रकम चुकाने के बाद भी परिवार को जान से मारने की धमकियां देने व बार-बार और अधिक पैसे देने के दबाव के चलते विश्वास नगर में एक युवा कारोबारी ने अपने शोरूम में फांसी के फंदे से लटक कर जान दे दी।

 महरौली में निगम पार्षद के घर बदमाशों की दबंगई, महिला हो या बुजुर्ग जो भी मिला उसकी कर दी पिटाई

मकान बेच चुकाया था कर्ज: काफी समय से कारोबारी कर्ज में था व कर्ज देने वाले लोग जान से मारने की धमकी दे रहे थे। ब्याज व कर्ज की रकम चुकाने के लिए कारोबारी के परिजनों ने एक मकान बेचकर कर्ज चुकाया था। 

मिल रही थी धमकियां
कर्ज देने वाले और रकम देने का दबाव बना रहे थे व कर्ज चुकाने के बाद भी कारेबारी के द्वारा दिए गए चैक व स्टाम्प पेपर पर किए गए एग्रीमेंट के पेपर लौटाने के बजाए केस करने व अन्य मामलों में फंसाने की धमकी दे रहे थे। कारोबारी ने अपने तीन पेज के सुसाइड नोट में भी इसका जिक्र किया है।

पुलिस फिलहाल मामले की जांच कर रही है। कारोबारी पुनीत साहनी (36) की विश्वास नगर के अर्जुन गली 60 फुटा रोड पर इलेक्ट्रॉनिक्स की शॉप है। वह करीब 10 साल से यह कारोबार कर रहे थे। पिछले कुछ समय से उन्होंने कुछ लोगों से काफी रुपये उधार लिए थे।

भीषण सड़क हादसे में नवविवाहित युवक की मौत, कुचल गए परिवार के सपने

आखिर कहां गया इतना पैसा
पुनीत को आखिर इतना कर्ज लेने की क्या जरुरत पड़ गई थी, यह पैसा कहां लगाया गया, इसको लेकर भी तमाम सवाल खड़े हो रहे हैं। पुनीत ने सुसाइड नोट में लिखा है कि उन्होंने कुछ लोगों से पैसा उधार लिया था और मूल से भी चार गुना ज्यादा दे चुके है। लेकिन वो लोग मेरे कागज और चैक वापस नहीं कर रहे हैं। एक मकान बेच कर सारा कर्ज भी चुका दिया है और अब देने के लिए मेरे पास कुछ भी नहीं है। 

एसएचओ व पूर्व पार्षद पर भी आरोप
कर्ज देने वालों से एक एसएचओ की साठ-गांठ का जिक्र भी सुसाइड नोट में किया गया है। कारोबारी के अनुसार कर्ज देने वाला एक प्रॉपर्टी डीलर एक थाने के एसएचओ के साथ मिलकर उसे व उसके परिवार को जान से मारने की धमकी दे रहा था। वहीं एक पूर्व पार्षद पर भी जान से मारने की धमकी देने का आरोप लगाया है।

तिहाड़ में 3G जैमर हुआ फेल, 4G स्पीड पर वीडियो कॉलिंग के मजे ले रहे हैं कैदी

चार लाख रुपए देने का बनाया था दबाव
परिजनों का आरोप है कि एक स्थानीय प्रॉपर्टी डीलर ने कर्ज के पैसे चुकाने के बाद भी चार लाख रुपये ब्याज देने का दबाव बनाया था। इसकी वजह से पुनीत परेशान थे और बुधवार को शोरूम पर भी नहीं आए। 

शाम को शोरूम पर आए व दे दी जान
परेशान पुनीत देर शाम करीब 8:30 बजे शोरूम पर आए और रात को यही रुक गए। देर रात तक घर नहीं पहुंचे तो परिजनों ने उनकी तलाश करनी शुरू की। पत्नी व मां शोरूम में पहुंचे तो वहां की पहली मंजिल पर पुनीत फांसी के फंदे पर लटके मिले। 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.