Monday, Sep 26, 2022
-->
by buying crypto currency, he used to give two and a half thousand percent profit in a day

क्रिप्टो करेंसी खरीदकर एक दिन में ढाई हजार प्रतिशत मुनाफा का देता था झांसा

  • Updated on 9/15/2022

द्वारका साइबर पुलिस ने सुनने और बोलने में अक्षम ठग के किया गिरफ्तार
- बना रखा था फर्जी वेबसाइट, टेलीग्राम के माध्यम से लोगों से करता था संपर्क

नई दिल्ली/टीम डिजिटल।


लोगों को फर्जी वेब साइट पर क्रिप्टो करेंसी खरीद कर 24 घंटों के अंदर ढाई हजार गुणा मुनाफा कमाने का लालच देकर ठगने वाला एक शख्स गिरफ्तार किया गया है। गिरफ्तार आरोपी न सुन सकता है और न ही बोल सकता है। आरोपी ई-कॉमर्स रिटेल कंपनी में काम करता है और ठगी के रुपयों को खुद क्रिप्टो में निवेश करना चाहता था। गिरफ्तार आरोपी 32 वर्षीय संजीव कुमार सिंह गुरुग्राम हरियाणा में रहता है।
डीसीपी एम हर्षवर्धन ने बताया कि जुलाई माह में द्वारका साइबर पुलिस स्टेशन में एक शिकायत प्राप्त हुई थी। शिकायतकर्ता ने बताया था कि एक महिला ने अपना नाम डायना बताते हुए उससे इंस्टाग्राम पर संपर्क किया था। क्रिप्टोकरेंसी में निवेश के लिए एक टेलीग्राम खाते का लिंक साझा किया और शिकायतकर्ता की एक आईडी बनाई। फिर उसने शिकायतकर्ता से रुपये भेजने को कहा था। झांसा देने के लिए 10 हजार रुपये बिटकॉइन में निवेश करने पर, 24 घंटों में ढाई हजार गुणा रुपये करीब 2.50 लाख वेबसाइट पर दिखाया गया था।

झांसे में आकर शिकायतकर्ता ने 1.30 लाख रुपये निवेश कर दिए। पर उन्हें कोई भुगतान नहीं मिला। दूसरे दिन ही वेबसाइट भी डिसेबल हो गया। शिकायत पर पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू की। टीम ने रुपये भेजे गए बैंक खातों और सोशल मीडिया अकाउंट का विश्लेषण शुरू किया। अंतत: पुलिस ट्रैक करती हुई गुरुग्राम पहुंच गई। जहां उन्हें आरोपी मिला। पुलिस ने उसे हिरासत में लेकर पूछताछ की। पता चला कि आरोपी जन्म से बोल और सुन नहीं सकता है और मात्र 10 वीं पास है। पर अंग्रेजी और हिंदी लिख व पढ सकता है। ई-कॉमर्स रिटेल कंपनी में काम करता है।
पूछताछ में आरोपी ने खुलासा किया कि वह एक ई-कॉमर्स रिटेल का कर्मचारी है और वह पैकेट के क्यूआर कोड को स्कैन करता है। वह टेलीग्राम पर किसी डायना के संपर्क में आता है और उसने उसे बताया कि वह यूएसए से है। फिर डायना ने एक प्रस्ताव दिया कि यदि वह अपने ग्राहकों द्वारा भुगतान करने के लिए इस्तेमाल किए गए कुछ भारतीय बैंक खाते प्रदान करेगा तो उसे अपने बैंक खातों में लेनदेन राशि का 4-5 प्रतिशत मिलेगा। इसके बाद वह लोगों से संपर्क करने लगा।
उसके कब्जे से 1 स्मार्टफोन जिसमें 15 से अधिक क्रिप्टोकरेंसी ट्रेडिंग एप्लीकेशन, विभिन्न बैंकों के 5 डेबिट कार्ड, 2 चेक बुक बरामद हुए। पुलिस इसके द्वारा ठगे गए अन्य लोगों के बारे में जानकारी जुटा रही है।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.