Sunday, Apr 18, 2021
-->
car found outside ambani residence sent for forensic investigation rkdsnt

अंबानी के आवास के बाहर पाई गई कार को फॉरेंसिक जांच के लिए भेजा गया

  • Updated on 3/7/2021

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। उद्योगपति मुकेश अंबानी के आवास के बाहर पिछले महीने मिली एक कार और जिलेटिन की छड़ों को मुंबई पुलिस ने फॉरेंसिक विश्लेषण के लिए भेज दिया है। एक अधिकारी ने बताया कि मुंबई के कलीना में स्थित फॉरेंसिक विज्ञान प्रयोगशाला (एफएसएल) में कार की जांच की जाएगी जिससे उसमें मौजूद खून के धब्बा, बाल या अन्य कोई सुराग मिल सके। 

आजम खान को लेकर योगी सरकार पर हमलावर सपा निकालेगी साइकिल यात्रा

उन्होंने कहा कि जांच में मिले किसी भी साक्ष्य से कार को चलाकर अंबानी के घर तक ले जाने वाले और उसमें बैठे लोगों के बारे में पता चल सकता है।       अधिकारी ने कहा कि प्रयोगशाला की रिपोर्ट एक सप्ताह में आ जाएगी। एफएसएल के एक अधिकारी ने कहा कि प्रयोगशाला में इसका पता लगाया जाएगा कि छड़ों में जिलेटिन की मात्रा कितनी है। 

तापसी पन्नू ने आयकर विभाग के छापे पर तोड़ी चुप्पी, निशाने पर सीतारमण

 

किसान आंदोलन के 100 दिन : किसान नेताओं ने मोदी सरकार को फिर चेताया

उन्होंने कहा कि विशेषज्ञों की सहायता से एफएसएल यह भी जानने की कोशिश करेगी कि क्या कार का चेसिस नंबर बदला भी गया था। इससे कार के असली मालिक और किसके नाम पर वाहन पंजीकृत था, इसका पता लगाने में मदद मिलेगी। अधिकारी ने कहा कि फॉरेंसिक प्रयोगशाला ने इस मामले को प्राथमिकता दी है और एक सप्ताह में रिपोर्ट सौंप दी जाएगी। 

मुथूट गोल्ड लोन कम्पनी के मालिक की छत से गिरकर मौत

 

मनसुख हीरेन के परिवार को न्याय मिलना चाहिए: कांग्रेस 
कांग्रेस की महाराष्ट्र इकाई ने रविवार को कहा कि उद्योगपति मुकेश अंबानी के आवास के बाहर मिले विस्फोटकों से लदे वाहन के मालिक मनसुख हीरेन के परिवार को जल्द से जल्द न्याय मिलना चाहिए। दक्षिण मुंबई में अंबानी के बहुमंजिला आवास ‘एंटीलिया’ के पास 25 फरवरी को जिलेटिन की 20 छड़ों के साथ एक कार पायी गई थी। पुलिस ने कहा था कि वाहन को एयरोली-मुलुंड पुल के पास से आठ फरवरी को चुराया गया। हीरेन (46) ठाणे में एक खाड़ी के किनारे शुक्रवार सुबह मृत पाए गए थे। 

मामले की जांच महाराष्ट्र का आतंकवाद निरोधक दस्ता (एटीएस) कर रहा है। प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता सचिन सावंत ने एक बयान में उम्मीद जताई कि एटीएस हीरेन की मौत के मामले की जड़ तक जाएगी और इसके पीछे की साजिश का पर्दाफाश करेगी। उन्होंने कहा कि हीरेन के परिवार को जल्द से जल्द न्याय मिलना चाहिए।  

भाजपा को‘‘गैरजिम्मेदार पार्टी‘’करार देते हुए सावंत ने पूछा,‘’इस मामले में सीडीआर (कॉल डिटेल रिकॉर्ड) भाजपा के पास कैसे पहुंची?‘‘ उन्होंने कहा कि भाजपा को राज्य की पुलिस पर भरोसा नहीं है इसलिए मामले की जांच एनआईए को सौंपने की मांग कर रही है। 
 

यहां पढ़े अन्य बड़ी खबरें... 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.