Friday, May 27, 2022
-->
centering mistri had cheated 36 businessmen of 9 crores, was absconding for two years

सेंट्रिंग मिस्री ने 36 कारोबारियों से की थी 9 करोड़ की ठगी, दो साल से था फरार

  • Updated on 1/29/2022

सेंट्रिंग मिस्री ने 36 कारोबारियों से की थी 9 करोड़ की ठगी, दो साल से था फरार

 

- कोर्ट ने जारी कर रखा था नॉन बेलेबल वॉरंट

 

नई दिल्ली/टीम डिजिटल।

द्वारका जिला स्पेशल स्टाफ ने एक ऐसे ठग को गिरफ्तार किया है, जो काम तो घरों में सेंट्रिंग लगाने का करता था। पर अपने शातिर दिमाग से उसने 36 कारोबारियों से 9 करोड़ ठग लिए थे। 

गिरफ्तार आरोपी की पहचान सनी बत्रा के रूप में हुई है। यह दिल्ली के मॉडल टाउन इलाके का रहने वाला है। इसकी गिरफ्तारी के लिए कोर्ट ने नॉन बेलेबल वॉरंट जारी कर रखा था। 

 

डीसीपी द्वारका, शंकर चौधरी ने बताया कि 2018 में ईओडब्लू में दर्ज एक ठगी के मामले में ट्रायल फेस ना कर, फरार रहने पर कोर्ट ने इसके खिलाफ नॉन बेलेबल वारंट जसरी किया था।

इसके बाद एसीपी ऑपरेशन विजय सिंह यादव की देखरेख में स्पेशल स्टाफ पुलिस के इंस्पेक्टर नवीन कुमार, एसआई जयवीर, एएसआई महेश और कांस्टेबल राजकुमार की टीम टेक्निकल और मैन्युअल सर्विलांस लगा कर इसका पता करने में जुटी हुई थी। आखिरकार टीम को इसके करनाल में होने का पता चला। जिसके बाद पुलिस ने छापेमारी कर इसे करनाल से दबोच लिया।

पूछताछ में पता चला कि गिरफ्तार किया गया आरोपी मकान बनाने के दौरान सेंट्रिंग का काम करता था। जब ढलाई के पहले लोहे के छड़ से सेटरिंग किया जाता है और उसी बिजनेस के सिलसिले में इसने दिल्ली के 36 व्यापारियों को झांसे में लेकर उनसे 9 करोड़ रुपये की ठगी की वारदात को अंजाम दे दिया था।

पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर कोर्ट में पेश कर दिया, जहां से कोर्ट ने उसे न्यायिक हिरासत में भेज दिया है।

 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.