Sunday, Sep 19, 2021
-->
coal-scam-date-set-of-judgement-on-punishment-for-former-coal-secretary-and-5-others

कोयला घोटाला : पूर्व कोयला सचिव समेत 6 के खिलाफ सजा की तारीख तय

  • Updated on 12/3/2018

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। दिल्ली की एक अदालत ने सोमवार को कहा कि पश्चिम बंगाल में एक निजी कंपनी को कोयला खदान आवंटन में अनियमितताओं के लिये दोषी ठहराए गए पूर्व कोयला सचिव एच सी गुप्ता और पांच अन्य को पांच दिसंबर को सजा सुनाएगी। यह मामला केंद्र में संप्रग के शासन के दौरान का है।  

आय से अधिक संपत्ति : CBI ने सत्येन्द्र जैन और उनकी पत्नी पर कसा शिकंजा

अदालत जिन पांच अन्य आरोपियों को सजा सुनाएगी, उसमें एक सेवानिवृत्त और एक मौजूदा लोकसेवक- के एस क्रोफा और के सी समारिया हैं। उन्हें भ्रष्टाचार रोकथाम कानून और भारतीय दंड संहित की विभिन्न धाराओं के तहत दोषी ठहराया गया है। समारिया के वकील ने अदालत को सूचित किया कि दोषी ठहराए जाने के बाद उन्हें निलंबित कर दिया गया है। समारिया को 30 नवंबर को उन्हें हिरासत में ले लिया गया।     

सीबीआई ने पांचों दोषियों को अधिकतम सात साल के कारावास और निजी कंपनी पर भारी जुर्माना लगाने की मांग की है। विशेष न्यायाधीश भरत पाराशर ने सीबीआई और दोषियों के वकील की ओर से सजा की अवधि को लेकर दो घंटे तक दलीलें सुनीं। अदालत ने 30 नवंबर को गुप्ता कोयला मंत्रालय में पूर्व संयुक्त सचिव क्रोफा और तत्कालीन निदेशक (सीए-1) सामरिया को मामले में दोषी ठहराया था।

EVM की सुरक्षा को लेकर कांग्रेस चिंतित, चुनाव आयोग से मिला प्रतिनिधिमंडल

अदालत ने कंपनी के प्रबंध निदेशक विकास पाटनी और उसके अधिकृत हस्ताक्षरकर्ता आनंद मलिक को भी मामले में दोषी ठहराया था। गुप्ता और चार अन्य दोषियों के वकील ने सजा में नरमी बरते जाने की मांग की। गुप्ता के वकील ने कहा कि वह 70 साल के हैं और विभिन्न बीमारियों से पीड़ित हैं। उनके परिवार का गुजारा चलाने के लिये उनके पास सिर्फ पेंशन का सहारा है।

यह मामला पश्चिम बंगाल में मोइरा और मधुजोर (उत्तर और दक्षिण) कोयला खदानों को वीएमपीएल को देने में कथित अनियमितताओं से संबंधित है। सीबीआई ने सितंबर 2012 में इस मामले में एक प्राथमिकी दर्ज की थी। सीबीआई के अभियोजकों संजय कुमार, वी के शर्मा और ए पी सिंह ने दलील दी कि अपराध की गंभीरता और समाज पर पडऩे वाले इसके असर को देखते हुए दोषियों को अधिकतम सजा मिलनी चाहिए। 

किसानों पर केजरीवाल बोले- मोदी जी को जितनी चिंता अडानी, अंबानी की है, अगर...

उन्होंने दलील दी कि कैग की रिपोर्ट के मुताबिक समूचे कोयला घोटाले से खजाने को 1.86 लाख करोड़ रूपये का नुकसान हुआ। अभियोजकों ने दावा किया कि मुकदमे के दौरान आरोपियों ने अदालत की मर्यादा को ठेस पहुंचाने का प्रयास किया, अभियोजकों को निशाना बनाया गया अभियोजन गवाहों को परेशान किया गया।     


 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.