Tuesday, Nov 30, 2021
-->
commission-sent-notice-to-the-police-regarding-the-arrest-of-the-smuggling-gang

आयोग ने तस्कर गिरोह की गिरफ्तारी को लेकर पुलिस को भेजा नोटिस

  • Updated on 11/24/2021

नई दिल्ली। टीम डिजिटल। असम की 22 वर्षीय युवती ने दिल्ली महिला आयोग से संपर्क कर दिल्ली में अपने तस्करों के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग की है। जिसके बाद तस्कर गिरोह की गिरफ्तारी को लेकर दिल्ली पुलिस को आयोग की ओर से नोटिस जारी किया गया है। 
ऑटो ड्राइवर ने अगवा कर किया नाबालिग का यौन उत्पीडन

दोस्त ने पहुंचाया तस्कर गिरोह तक
पीड़िता ने आयोग को बताया कि उसने असम से अपनी रानी नामक सहेली से संपर्क किया कि वो दिल्ली में उसके लिए काम खोजने में मदद करे। रानी ने रामू काका नाम के एक आदमी का हवाला देते हुए 15 हजार के वेतन की बात कर उसे दिल्ली बुला लिया। पीड़िता 2 अक्तूबर को दिल्ली आई और 4 दिन बाद ही रानी और रामू काका ने उसे वेश्यावृत्ति के अपने धंधे में जुडऩे के लिए मजबूर किया। पीड़िता ने आयोग में बताया की दोनों आरोपी क्लाइंटस और ब्रोकर्स के साथ मिलकर एक संगठित रैकेट चला रहे थे। जिसमें 10 से अधिक लड़कियां शामिल हैं और यौन शोषण में उनका किया जा रहा है। उसने बताया कि एक दिन रामू काका के लिए क्लाइंट्स लाने वाले प्रशांत नाम के एक शख्स ने उसका यौन शोषण करने की कोशिश की और जब उसने विरोध किया तो उसके साथ मारपीट भी की। इसके बाद पीड़िता किसी तरह अपनी जान बचाकर भागी और सफदरंजग पुलिस थाने में 8 नवंबर 2021 को एफआईआर दर्ज करवाई। पीड़िता ने आयोग को भी मदद के लिए संपर्क किया और प्राथमिकी दर्ज होने के बाद भी पुलिस द्वारा कार्रवाई नहीं किए जाने की बात कही। जिसके बाद आयोग प्रमुख स्वाति मालीवल ने दिल्ली पुलिस को नोटिस जारी कर आरोपियों की तत्काल गिरफ्तारी की मांग की है। साथ ही मामले की गहन जांच करने तथा पूरे रैकेट का पर्दाफाश करने को कहा है ताकि अन्य लड़कियों को भी यौन शौषण से बचाया जा सके। 
डीसीडब्ल्यू ने एसिड अटैक मामले में दिल्ली पुलिस किया नोटिस जारी
 
लड़कियों की आर्थिक परेशानी का उठाते हैं तस्कर गिरोह फायदा : स्वाति मालीवाल
आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल ने कहा कि मुझे इस मामले में दु:ख के साथ ही काफी गुस्सा भी है। मेरे पास लड़की के दुख को बयां करने के लिए शब्द नही है लड़की की आर्थिक परेशानी का फायदा उठाने के कोशिश की गई और उसका यौन शौषण तस्कर गिरोह द्वारा हुआ। दुख की बात है कि पुलिस ने एफआइआर होने के बावजूद अब तक आरोपी को गिरफ्तार नहीं किया है। 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.