Sunday, Jan 23, 2022
-->
confrontation-between-farmers-and-citizens-averted-ghaziabad-police-stunned

किसानों और नागरिकों के बीच टकराव टला, डेढ़ घंटे तक सन्न रही गाजियाबाद पुलिस

  • Updated on 11/28/2021

नई दिल्ली/टीम डिजीटल। यूपी गेट पर रास्ता बाधित कर धरनारत किसानों के खिलाफ अब नागरिकों में आक्रोश बढ़ गया है। राष्ट्रीय राजमार्ग-9 पर आवागमन सुचारू न होने से खफा सैकड़ों नागरिक रविवार को इंदिरापुरम में जुटे। उन्होंने यूपी गेट पर जाकर किसानों को धरनास्थल से उठाने का ऐलान कर दिया। ऐसे में दोनों पक्षों में टकराव होने की आशंका ने पुलिस में खलबली मचा दी। पुलिस ने इंदिरापुरम में नागरिकों से वार्ता कर उन्हें यूपी गेट नहीं जाने दिया। करीब डेढ़ घंटे तक पुलिस और नागरिकों के मध्य बातचीत होती रही। 

यूपी गेट को खाली करने की मांग
पुलिस ने भरोसा दिलाया कि अगले कुछ दिन में यूपी गेट से किसान हट जाएंगे। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा तीनों विवादित कृषि कानूनों की वापसी का ऐलान कर दिए जाने के बाद भी किसान आंदोलन जारी है। यूपी गेट पर अभी भी बड़ी संख्या में किसान रास्ता रोक कर बैठे हैं। इससे आमजन की तकलीफ बढ़ी हुई है। फेडरेशन ऑफ एओए गाजियाबाद ने किसानों के खिलाफ आवाज उठाई है। एओए के प्रतिनिधियों का कहना है कि यूपी गेट पर रास्ता बंद रहने से गाजियाबाद की विभिन्न कॉलोनियों के नागरिकों को प्रतिदिन काफी दिक्कतों से जूझना पड़ रहा है। 

किसानों के खिलाफ लामबंद
एयरपोर्ट और रेलवे स्टेशन पहुंचने में परेशानी होती है। स्कूली बच्चों को भी परेशानी आ रही हैं। किसानों को धरना समाप्त कर देना चाहिए। फेडरेशन ऑफ एओए गाजियाबाद के आह्वान पर रविवार की सुबह करीब 11 बजे आम्रपाली विलेज इंदिरापुरम के बाहर 500 से ज्यादा नागरिक एकत्र हो गए थे। उनका इरादा यूपी गेट जाकर किसानों को हटाने का था। इसकी सूचना मिलने पर पुलिस एकाएक हरकत में आ पहुंची। दरअसल पुलिस को आशंका थी कि यूपी गेट पर किसानों और नागरिकों में टकराव हो सकता है। 

आंदोलनकारियों को हटाने पर अडिग
पुलिस अधिकारियों ने एओए के प्रतिनिधियों को आश्वस्त किया कि अगले कुछ दिनों में यूपी गेट से किसान उठ जाएंगे। इसके बाद दोपहर करीब साढ़े 12 बजे नागरिक वापस लौट गए। हालांकि पुलिस द्वारा यूपी गेट जाने से रोके जाने पर महिलाओं और बच्चों ने आम्रपाली विलेज के गेट पर धरना-प्रदर्शन कर नारेबाजी की। फेडरेशन ऑफ एओए गाजियाबाद के संस्थापक अध्यक्ष आलोक कुमार का कहना है कि यूपी गेट पर रास्ता बाधित होने से नागरिकों की समस्या बढ़ी हुई है। किसानों को जनता की तकलीफ को भी समझना चाहिए।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.