Monday, Sep 20, 2021
-->
constable beat up the young man to death musrnt

दिल्ली पुलिस के कांस्टेबल ने युवक का अपहरण किया और मारकर गंग नहर में फेंका

  • Updated on 7/30/2021

नई दिल्ली/ पंकज वशिष्ठ। पूर्वी जिले के न्यू अशोक नगर इलाके में करीब दो माह पूर्व रोडरेज के दौरान हुई बहस में दिल्ली पुलिस के सिपाही ने पिटाई करने के बाद एक युवक का अपहरण कर लिया। बाद में उसकी पीट-पीट हत्या करने के बाद शव को मुरादनगर में गंगनहर में बहा दिया।

युवक के परिजन बेटे की गुमशुदगी की रिपोर्ट लिखवाने व उसे तलाश करने के लिए थाने के चक्कर लगाते रहे। जब इसकी जांच हुई तो पता चला कि बेटे की लाश को गंग नहर में हत्या कर फेंक दिया गया था। थाना प्रभारी ने खुद इस मामले को छिपाने को कहा। एसएचओ को निलंबित कर दिया गया है और सिपाही बर्खास्त हो गया है।

जानकारी के अनुुसार युवक अजीत (29) परिवार के साथ बी-ब्लॉक न्यू कोंडली में रहता था। इसके परिवार में मां कृष्णा देवी, भाई अशोक और एक बहन नीतू है। अजीत कोंडली रोड पर ही फल की रेहड़ी लगाता था। गत 4 जून की रात को अजीत अपने दोस्त अतुल के साथ आईसक्रीम खाने घर से बाहर निकला। रास्ते में न्यू अशोक नगर इलाके में सफेद रंग की कार में सवार चार लोगों ने दोनों को पकड़ लिया। आरोप है कि कार सवारों ने दोनों युवकों को बुरी तरह पीटना शुरू कर दिया। अतुल किसी तरह भाग गया। आरोपी अजीत को कार में डालकर अपने साथ ले गए।

इसके बाद अजीत घर वापस नहीं लौटा। इस पूरी पिटाई और उसको अगवा करने का वीडियो पास की बिल्डिंग से किसी अज्ञात शख्स ने बना लिया। चूंकि वारदात के समय अजीत के पास मोबाइल नहीं था, इसलिए परिवार वाले उससे संपर्क नहीं कर सके। 

अतुल ने डर कर नहीं खोला मुंह
अतुल ने डर की वजह से किसी को कुछ नहीं बताया था। तीन दिन बाद अतुल ने अपने दोस्तों को घटना के बारे में बताया तो परिवार को अजीत की पिटाई और अपहरण का पता चला। जिनके बाद परिजन न्यू अशोक नगर थाने गए। परिजनों ने अजीत के अगवा होने की शिकायत दी। लेकिन पुलिस ने कोई सुनवाई नहीं की।

इसी बीच युवक की पिटाई का वीडियो बनाने वाले शख्स ने सोशल मीडिया पर वीडियो वायरल कर दिया। परिजनों ने वीडियो के आधार पर वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों से जांच की गुहार लगाई। करीब दो माह बाद 27 जुलाई को वीडियो के आधार पर पहले मामले में अपहरण का मामला दर्ज कर जांच पूर्वी जिले के स्पेशल स्टाफ को सौंप दी गई।

सिपाही का नाम आया सामने

अजीत के गायब होने और पिटाई के वीडियो के आधार पर स्पेशल स्टाफ  की टीम ने मामले की जांच की। जांच के दौरान पुलिस को स्विफ्ट कार का नंबर मिला। नंबर यूपी के बुलंदशहर का था। उसकी पड़ताल करने पर पता चला कि कार पांडव नगर थाने में तैनात सिपाही मोनू सिरोही की है। स्पेशल स्टाफ ने उससे पूछताछ की तो आरोपी पुलिस टीम को गुमराह करता रहा। लेकिन पूछताछ करने पर वह टूट गया। उसने जो खुलासा किया उससे पुलिस अधिकारियों के होश उड़ गए।  

न्यू अशोक नगर थाना प्रभारी निलंबित 

पूर्वी जिला पुलिस उपायुक्त प्रियंका कश्यप ने लापरवाही बरतने पर न्यू अशोक नगर थाना प्रभारी प्रमोद कुमार को निलंबित करने के साथ ही विभागीय जांच के आदेश दे दिए हैं। साथ ही आरोपी सिपाही मोनू को बर्खास्त कर दिया गया है।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.