Tuesday, Jun 28, 2022
-->
Criminal avatar of businessman, female partner held hostage abroad, family in panic

कारोबारी का क्रिमिनल अवतार, महिला पार्टनर को विदेश में बंधक बनाया, दहशत में परिवार

  • Updated on 6/23/2022

नई दिल्ली/टीम डिजीटल। कारोबारी ने काले-कारनामों का भेद खुलने पर महिला पार्टनर को जबरन विदेश ले जाकर बंधक बना लिया। अफ्रीका से बंधन मुक्त होकर सकुशल भारत लौटने की कोशिश में वह सफल नहीं हो पाई है। पीड़िता ने खुद कॉल कर परिवार को आप-बीती सुनाई है। इसके बाद महिला के भाई ने पुलिस में शिकायत की।

पुलिस ने 2 आरोपियों के विरूद्ध अपहरण एवं जान से मारने की धमकी देने की रिपोर्ट दर्ज की है। गाजियाबाद जनपद के कविनगर थाना क्षेत्र में यह मामला प्रकाश में आया है। पुलिस के मुताबिक सौरभ सिंघल निवासी पटेल नगर तृतीय फार्मा कंपनी के मालिक हैं। ईस्ट अफ्रीका के रबांडा में वह एस्कॉर्ट फार्मास्यूटिकल्स नामक कंपनी चलाते हैं। 

हितेश सिंह निवासी मानसरोवर पार्क द्वारका एंक्लेव इस कंपनी में प्रबंध निदेशक थे। सौरभ ने हितेश को ऑफर दिया था कि कंपनी में मोटा निवेश कराने पर उन्हें 25 फीसदी का शेयर होल्डर बना दिया जाएगा। बाद में हितेश की बहन क्षमा ने फार्मा कंपनी में 40 लाख रुपए का निवेश कर दिया। उन्हें 25 फीसदी का शेयर होल्डर बनाया गया। 

कंपनी की आड़ में अवैध कार्य होने की जानकारी मिलने पर हितेश 21 मार्च 2021 को इस्तीफा देकर भारत लौट आए थे। आरोप है कि रबांडा में संबंधित कंपनी के खिलाफ 3 केस दर्ज हैं। इसके चलते कारोबारी सौरभ नाराज हो गया। 2 अप्रैल को वह अफ्रीका से भारत लौटा। ऐसे में हितेश की बहन क्षमा को जबरन अपने साथ विदेश ले गया। 

जहां अगवा कर उसे बंधक बनाकर रखा गया है। 11 जून को क्षमा ने विदेशी नंबर से फोन कर आप-बीती बताई। आरोप है कि सौरभ सिंघल और सार्थक सिंघल ने पीड़िता को रबांडा में बंधक बना रखा है। बेटी की सुरक्षा को लेकर पूरा परिवार परेशान है।

उधर, पुलिस क्षेत्राधिकारी कविनगर अवनीश कुमार ने बताया कि इस प्रकार में शिकायत के आधार पर फार्मा कंपनी के मालिक सौरभ सिंघल के अलावा सार्थक सिंघल के विरूद्ध अपहरण और धमकी देने की रिपोर्ट दर्ज की गई है। 

comments

.
.
.
.
.