Monday, May 16, 2022
-->
daryaganj violence judicial custody of 15 people

दरियागंज हिंसा: गिरफ्तार 15 लोगों की न्यायिक हिरासत बढ़ी अवधि

  • Updated on 1/7/2020

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। दिल्ली (Delhi) के दरियागंज (Daryaganj violence) में पिछले महीने नागरिकता संशोधन अधिनियम (सीएए) विरोधी प्रदर्शन के दौरान कथित तौर पर हिंसा फैलाने के लिए गिरफ्तार 15 आरोपियों की न्यायिक हिरासत अवधि 18 जनवरी तक बढ़ा दी गयी है।

वीडियो कांफ्रेंसिंग से पेश हुए आरोपी
आरोपियों को अतिरिक्त जिला न्यायाधीश मनीष यदुवंशी की अदालत में वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से पेश किया गया, जिसके बाद उनकी न्यायिक हिरासत अवधि बढ़ा दी गई। आरोपियों की जेल से ही वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से पेशी हुई। अदालत मंगलवार को आरोपियों की जमानत याचिका पर सुनवाई करेगी। उसने सोमवार को अभियोजन से मुद्दे पर कुछ स्पष्टीकरण भी मांगा।

मुजफ्फरपुर आश्रय गृह मामला: 17 मामलों में जांच पूरी

नही मिली थी 23 दिसम्बर को जमानत 
इसने पहले पुलिस से कहा था कि सीसीटीवी फुटेज की जांच करे ताकि हिंसा में आरोपियों की कथित भूमिका का पता लगाया जा सके। मजिस्ट्रेट की अदालत ने 23 दिसम्बर को 15 आरोपियों को जमानत देने से इंकार कर दिया था, जिसके बाद उन्होंने सत्र अदालत का दरवाजा खटखटाया था। 

सड़क किनारे सो रहे शख्स पर Petrol डालकर लगाई आग, Video हुआ वायरल

नही है कोइ क्रिमिनल रिकार्ड
गिरफ्तार लोगों की ओर से पेश वकील ने दावा किया कि पुलिस ने कई लोगों को हिरासत में लिया था लेकिन उन 15 लोगों को ही गिरफ्तार करने का फैसला किया जिनका कोई आपराधिक रिकॉर्ड नहीं है।

जमानत देने से किया इनकार
अदालत ने पुलिस को इस मामले में गिरफ्तार आरोपियों में से एक के पते और अन्य विवरणों का सत्यापन करने के लिये कहा। इससे पहले 23 दिसंबर (December) को एक मजिस्ट्रेट अदालत ने 15 आरोपियों को जमानत देने से इनकार कर दिया था, जिसके बाद उन्होंने राहत के लिये सत्र अदालत का रुख किया। दरियागंज में 20 दिसंबर को प्रदर्शनकारियों के एक समूह ने पुलिस पर पथराव किया था, जब पुलिस उन्हें बलपूर्वक पीछे हटाने की कोशिश कर रही थी। इस दौरान एक कार को आग के हवाले कर दिया गया तथा कई अन्य वाहनों को भी नुकसान पहुंचाया गया था।

कोर्ट पहुंचे चिन्मयानंद स्वामी चिन्मयानंद, 20 जनवरी को होगी अगली पेशी

सभी आरोपी न्यायिक हिरासत में
गिरफ्तार आरोपियों में से एक का दावा है कि वह नाबालिग है। पुलिस (Police) का दावा है कि आरोपी ने बताया है कि उसकी उम्र 23 साल है। इस बीच, उत्तर पूर्वी दिल्ली (North East Delhi) के सीलमपुर (Seelampur) इलाके में ऐसे ही प्रदर्शनों के संबंध में गिरफ्तार कई आरोपियों की जमानत याचिका पर शुक्रवार को एक अन्य निचली अदालत में सुनवाई होनी है।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.