Tuesday, Oct 04, 2022
-->
DCW issues notice to Delhi Police in acid attack case

डीसीडब्ल्यू ने एसिड अटैक मामले में दिल्ली पुलिस किया नोटिस जारी

  • Updated on 11/10/2021

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। बुधवार को दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल ने महिला आयोग की सदस्य प्रोमिला गुप्ता के साथ दिल्ली के एक अस्पताल का दौरा किया, जहां एक एसिड अटैक सर्वाइवर अपने जीवन के लिए लगातार संघर्ष कर रही है।  23 साल की युवती पर 3 नवम्बर को दिल्ली के बवाना इलाके में तेजाब से हमला किया गया था जिसके बाद उसकी स्तिथि गंभीर है । आरोपी ने युवती जो की पहले से ही शादीशुदा थी पर खुद से शादी करने के लिए जोर डाला पर जब युवती ने ये करने से साफ इंकार किया तो उसने  तेजाब फेंक कर युवती पर हमला कर बदला लेने की कोशिश की।  डीसीडब्ल्यू प्रमुख स्वाति मालीवाल और सदस्य प्रोमिला गुप्ता ने पीड़िता से बातचीत भी की जो की अपने जीवन के लिए लड़ रही है और आरोपी के खिलाफ सख्त करवाई चाहती है।

केंद्रीय वाणिज्य मंत्री पीयूष गोयल करेंगे 40वें अंतरराष्ट्रीय व्यापार मेले का उद्घाटन

  48 घंटे के भीतर मांगी आयोग ने पुलिस से विस्तृत रिपोर्ट
आयोग ने दिल्ली पुलिस को नोटिस जारी कर एफआइआर और  मामले में गिरफ्तार आरोपि का पूरा चि_ा मांगा है।  आयोग ने कहा कि लडक़ी की हालत नाजुक होने के बावजूद वह अभी बातचीत करने में सक्षम है।  इसलिए आयोग ने दिल्ली पुलिस से यह सुनिश्चित करने का आग्रह किया है कि धारा 164 के तहत पीड़िता का बयान जल्द से जल्द अस्पताल में ही मजिस्ट्रेट के सामने दर्ज किया जाए.आयोग ने पुलिस से उस स्थान का भी पता लगाने को कहा है जहां से आरोपी ने तेजाब खरीदा था और विक्रेता के खिलाफ की गई कार्रवाई का विवरण भी मांगा है।  आयोग ने मामले की गंभीरता को देखते हुए 48 घंटे के भीतर दिल्ली पुलिस से की गई कार्रवाई की विस्तृत रिपोर्ट भी मांगी है।

रे बहंगी छठ मईया के जाय

पीड़िता की हालात काफी नाजुक : स्वाति मालीवाल  
डीसीडब्ल्यू प्रमुख स्वाति मालीवाल ने कहा, लडक़ी की स्थिति को बयान करने के लिए मेरे पास कोई शब्द नहीं है। उसकी हालत देखकर में बिलकुल स्तब्ध हूं। पीड़िता का शरीर बुरी तरह जला हुआ है और उसकी दृष्टि भी चली गई है जो की बेहद दुखद है । उसकी स्थिति काफी नाजुक है और आयोग ने दिल्ली पुलिस को नोटिस जारी कर कड़ी से कड़ी कार्रवाई की मांग की है ताकि पीड़िता को न्याय मिले और कोई ऐसा करना तो दूर सोचने से भी डरे।  भारतर में एसिड की खुदरा बिक्री पर बिलकुल प्रतिबंध लगा दिया जाना चाहिए।

 

comments

.
.
.
.
.