Saturday, Jul 31, 2021
-->
dcw notice to delhi police over disha ravi arrest kmbsnt

दिशा रवि की गिरफ्तारी को लेकर दिल्ली महिला आयोग ने पुलिस को भेजा नोटिस

  • Updated on 2/16/2021

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। किसान आंदोलन (Farmers Protest) से संबंधित टूलकिट मामले में जलवायु कार्यकर्ता दिशा रवि (Disha Ravi) की गिरफ्तारी पर दिल्ली महिला आयोग (Delhi Commission for Women) ने दिल्ली पुलिस को नोटिस भेजा है। दिल्ली पुलिस के डिप्टी कमिश्नर और साइबर क्राइम सेल को भी इस मामले में महिला आयोग ने नोटिस जारी किया है। दिल्ली महिला आयोग ने पुलिस को एफआईआर की प्रतिलिपि प्रदान करने के लिए कहा है। इसके साथ ही कथित तौर पर उसे ट्रांजिट रिमांड और विस्तृत कार्रवाई रिपोर्ट के लिए स्थानीय अदालत के समक्ष पेश नहीं करने का कारण भी पूछा है। 

बता दें कि दिशा रवि की गिरफ्तार को लेकर किसानों से लेकर विपक्षी दलों के नेता सवाल उठा रहे हैं। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने भी दिशा रवि की गिरफ्तारी को लोकतंत्र पर हमला बताया था। वहीं आज दिल्ली पुलिस कमिश्नर एस एन श्रीवास्तव का बयान भी सामने आया है।

पुलिस कमिश्नर ने कहा है कि 22 साल वाले व्यक्ति और 50 साल वाले व्यक्ति के लिए कानून अलग-अलग नहीं हो सकता। कानून सभी के लिए बराबर है। कोर्ट ने गिरफ़्तारी को सही मानते हुए 5 दिन की पुलिस हिरासत में भेजा। जो लोग कहते हैं कि गिरफ्तारी में गलत तरीक से हुई है ये बिल्कुल झूठ है। 

टूलकिट मामले में खालिस्तानी-आईएसआई कनेक्शन, भजन सिंह और पीटर फ्रेडरिक का नाम आया सामने

दिशा ने इनके साथ मिलकर बनाई थी टूलकिट
दिल्ली पुलिस ने सोमवार को कहा कि जलवायु कार्यकर्ता दिशा रवि के साथ मुंबई की वकील निकिता जैकब और पुणे के इंजीनियर शांतनु ने किसानों के आंदोलन के संबंधित ‘‘टूलकिट’’ बनाई थी और भारत की छवि को धूमिल करने के लिए उसे अन्य लोगों के साथ साझा किया था। पुलिस ने दावा किया कि बेंगलुरु से शनिवार को गिरफ्तार की गई दिशा रवि ने जलवायु कार्यकर्ता ग्रेटा थनबर्ग को टेलीग्राम ऐप के जरिये ‘‘टूलकिट’’ भेजी थी और उस पर कार्रवाई करने के लिए उसे राजी किया था। पुलिस ने बताया कि डाटा भी हटा दिया गया था। दिशा के टेलीग्राम खाते से पता चलता है कि ‘‘टूलकिट’’ से संबंधित कई लिंक हटाए गए थे।

दिशा रवि की गिरफ्तारी के बाद दिल्ली पुलिस ने ‘टूलकिट’ से जुड़े लिंक जोड़ने का किया दावा

निकिता और शांतनु के खिलाफ गैर-जमानती वारंट जारी
‘टूलकिट’ में ट्विटर के जरिये किसी अभियान को ट्रेंड कराने से संबंधित दिशानिर्देश और सामग्री होती है। दिल्ली पुलिस ने बताया कि किसानों के आंदोलन से जुड़ी एक ‘टूलकिट’ कथित तौर पर बनाने के लिए निकिता और शांतनु के खिलाफ गैर-जमानती वारंट जारी किये गये है।

यहां पढ़ें अन्य बड़ी खबरें...

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.