Wednesday, Dec 01, 2021
-->
Delhi death sentence Nirbhaya Rape Case Gang Rape Bihar Buxar

निर्भया के दोषियों के लिए तैयार हो रहा है फांसी का फंदा, जानें किस जेल में हो रही है तैयारी

  • Updated on 12/10/2019

नई दिल्ली/ कृष्ण कुणाल सिंह। देश की राजधानी दिल्ली (Delhi) में 1978 में एक नेवी अधिकारी के बेटे की हत्या कर उसकी नाबालिग बहन से हैवानियत करने के बाद रंगा-बिल्ला नाम के आरोपियों ने उसकी हत्या कर दी थी।

निर्भया के दोषियों को जल्द हो सकती है फांसी, कोर्ट से जारी होगा ब्लैक वारंट

उस वक्त भी दोनों आरोपियों को फांसी देने के लिए बिहार (Bihar) के बक्सर (Buxar) जेल में फांसी का विशेष फंदा तैयार किया गया था और दोनों को उस वक्त मेरठ के जल्लाद कालू और एक अन्य जल्लाद को तिहाड़ बुलाकर फांसी दी गई थी। उसके बाद दिल्ली को झकझोर देने वाली घटना निर्भया के साथ हुई। जब चलती बस में पांच दरिंदों ने उसके साथ सामूहिक बलात्कार के बाद हैवानियत की थी। इस कांड ने पूरे देश को हिला कर रख दिया था।

केजरीवाल सरकार के इस फैसले से बढ़ा निर्भया की मां का हौंसला, कही ये बात

अब इन आरोपियों को भी फांसी देने के लिए इस बार भी बक्सर के जेल में विशेष फांसी का फांदा तैयार किया जा रहा है। इस बार भी निर्भया के दोषियों को फांसी देने के लिए मेरठ से ही जल्लाद को बुलाया जा रहा है। रंगा-बिल्ला को 1982 में जिस रस्सी से फांसी दी गई थी। वह बक्सर जेल से रस्सी मंगाई गई थी। यह रस्सी बाजार से खरीदी नहीं जाती बल्कि बिहार की बक्सर जेल में खासतोर से बनाई जाती है। इसको लचीला बनाने के लिए इस पर मोम या मक्खन का लेप किया जाता है। कुछ जल्लाद इसके लिए पके हुए केले को मसलकर रस्सी पर लगाते हैं।

इस रस्सी की लंबाई 1.8 मीटर से 2.4 मीटर के बीच होती है। 1982 में जब रंगा बिल्ला को मेरठ का जल्लाद फकीरा उर्फ काला ने बक्सर में बने उसी फंदे से फांसी दी थी। अब निर्भया गैंग मामले में तीनों आरोपियों को फांसी देने की तैयारी चल रही है। इस मामले में हालांकि नाबालिग आरोपी रिहा हो गया है और राम सिंह नाम का मुख्य आरोपी तिहाड़ जेल में खुदकुशी कर ली थी। बताया जा रहा है कि आरोपियों को तिहाड़ के जेल नंबर तीन में फांसी देने की तैयारी की जा रही है। 

comments

.
.
.
.
.