delhi gang rape of a minor on the pretext of job 2 accused arrested

दिल्ली: नौकरी का झांसा देकर नाबालिग के साथ किया सामूहिक दुष्कर्म, 2 आरोपी गिरफ्तार

  • Updated on 9/11/2019

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। दिल्ली के मोती नगर इलाके में स्थित ESI अस्पताल के पीछे नाबालिग के साथ सामूहिक दुष्कर्म का मामला सामने आया है। बताया जा रहा है कि दो युवक किशोरी को नौकरी दिलाने का झांसा देकर अस्पताल के पीछे सुनसान जगह पर ले गए। जहां उन्होंने मासूम के साथ कई घंटो तक घिनोनी हरकत की। पीड़िता की उम्र केवल 16 वर्ष है।

उत्तरप्रदेशः ट्रैफिक नियमों की दहशत में युवक ने गंवाई जान

दिल्ली पुलिस के अनुसार घटना की सूचना शाम करीब पौने चार बजे मिली। सूचना ईएसआई अस्पताल के सिक्यूरिटी सुपरवाइजर ने दी थी। पुलिस ने सामूहिक दुष्कर्म की इस गुत्थी को मात्र 6 घंटे में सुलझाने का दावा करते हुए दो आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। आरोपी की पहचान रवि (25) और अंकित चौधरी उर्फ वासू(24) से हुई है। पुलिस का कहना है कि मंगलवार देर रात तक आरोपियों से पूछताछ की गई थी। 

यौन उत्पीड़न मामले में अकबर के खिलाफ प्रिया रमानी ने दी जोरदार दलीलें

क्या है पूरा मामला
पश्चिमी बंगाल की रहने वाली किशोरी तीन महीने पहले दिल्ली आई थी। वह मोती नगर में एक घर में घरेलू सहायिका का काम करती थी। घर के मालिक के कहने पर सोमवार सुबह वह घर का कुछ सामान लेने गई थी। समान लेने के बाद वह घर के नजदीकी पार्क में चली गई। पार्क में रवि व अंकित चौधरी नामक युवक बैठे हुए थे। इन युवकों ने गलत नीयत से किशोरी से जान-पहचान की और अच्छी तनख्वाह वाली नौकरी दिलाने का वादा किया।

मासूम बच्ची उन दरिंदो की बातों में आ गई। उसके बाद दोनों आरोपी किशोरी को बसई धारापुर में स्थित ईएसआई अस्पताल के पीछे सुनसान जगह पर ले गए और वहा उसे साथ एक-एक कर दुष्कर्म किया। इसके बाद घबराए हुए चहरे के साथ किशोरी ने यह बात अस्पताल के सिक्यूरिटी गार्ड को बताई। 

मोती नगर थाना पुलिस ने सामूहिक दुष्कर्म व पोक्सो एक्ट के तहत मामला दर्जकर जांच शुरू की। पुलिस अधिकारियों के अनुसार आरोपियों के बारे में किशोरी को कुछ पता नहीं था और न ही पुलिस के पास कोई सुराग था। पुलिस ने घटनास्थल के पास लगे सीसीटीवी फुटेज को खंगाला। जिसके जरिए पुलिस ने दोनों आरोपियों को उनके घर से वारदात के 6 घंटे बाद ही गिरफ्तार कर लिया। पुलिस के बातचीत करने पर रवि(आरोपी) ने बताया कि वह मजूदरी करता था, जबकि अंकित चौधरी उर्फ वासू बेरोजगार है। 

comments

.
.
.
.
.