Sunday, Jun 16, 2019

दिल्ली: SI के बेटे की चाकू गोदकर की हत्या, UPSC के EXAM की कर रहा था तैयारी

  • Updated on 5/21/2019

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। वजीराबाद स्थित यूपीएससी के एक छात्र की अज्ञात हमलावरों ने चाकुओं से गोदकर हत्या कर दी। मृतक की पहचान शिव कांत यादव (28) रूप में हुई है। हत्या के बाद आरोपी युवक मौके से फरार हो गए। शुरुआती जांच में पुलिस प्रेम प्रसंग और लूटपाट को ध्यान में रखते हुए तफ्तीश कर रही है। पुलिस ने केस दर्ज करके हत्यारों का सुराग लगाने के लिए छानबीन शुरू कर दी है। 

सड़क पर खून से लथपथ पड़ा था छात्र का शव
बता दें मूलरुप से अलीगढ़ निवासी शिव कांत यादव वजीराबाद गांव गली-12 में किराए के मकान में अकेला रहता था। जबकि तीन साल से यूपीएससी परीक्षा की तैयारी मुखर्जी नगर स्थित एक प्राइवेट कोचिंग सेंटर से कर रहा था। वहीं, सोमवार सुबह करीब 4:00 बजे कंट्रोल रूम को सूचना मिली कि खून से लथपथ हालत में संगम विहार स्थित गली-4 के बाहर एक युवक का शव पड़ा हुआ है। नाक व कान से खून निकल रहा है, जबकि सीने व पीठ पर चाकू से वार के तीन निशान हैं। तुरंत स्थानीय पुलिस ने क्राइम टीम के साथ मौके पर पहुंचकर शव को कब्जे में लिया। आसपास के लोगों से पूछताछ करने के बाद पुलिस मृतक की पहचान कर पाई, जिसके बाद मामले की सूचना उसके परिजनों को दी। उधर परिजनों की मानें तो आखिरी बार उनकी शिव से रात करीब 8:30 बजे फोन पर बातचीत हुई थीं। इस दौरान उसने बताया था कि वह अपने किसी दोस्त से मिलने के लिये घर से बाहर जा रहा है।

Image result for चाकू गोदकर की हत्या

नहीं थी किसी से रंजिश,कोचिंग सेंटर से जुड़ा हो सकता है मामला
शिव के पिता केबी सिंह यादव ने बताया कि शिव की किसी से रंजिश नहीं थी और वह सीधा-साधा था और पढऩे के साथ-साथ वह समाजिक काम भी किया करता था। हत्या के पीछे कोचिंग सेंटर में पढऩे वाले किसी छात्र का हाथ हो सकता है। पुलिस दोनों बिंदुओं पर जांच कर रही है। उसके पिता केबी सिंह यादव यूपी पुलिस में सब इंस्पेक्टर हैं। वह चार वर्ष पहले सिविल सर्विस प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी करने दिल्ली आया था। वह वजीराबाद गांव गली-12 स्थित मकान में किराए पर रहता था और मुखर्जी नगर स्थित कोचिंग सेंटर में पढ़ता था।

शिव की मौत से परिवार में कोहराम मच गया। उसकी मां का रोते हुए बुरा हाल हो रहा था, परिवार की महिलाएं उसे ढांढस बंधाने में जुटी थीं। बार-बार मां कह रही थी कि उसका भी सपना था कि शिव बड़ा अधिकारी बने, लेकिन उसका लाल उससे छीन लिया। जिसने ऐसा किया है, उनका उसने क्या बिगाड़ा था। उन्होंने पुलिस से हत्याकांड का शीघ्र खुलासे की मांग की। लोगों का कहना था कि इस हत्या में उसका कोई नजदीकी युवक रहा है, उसकी तलाश पुलिस करे और देर शाम पोस्टमार्टम के बाद शव अंतिम संस्कार लिए परिजन अलीगढ़ ले गए। 

Image result for चाकू गोदकर की हत्या

साफ नहीं मिली सीसीटीवी कैमरों की फुटेज
लेकिन जब परिजनों ने दोबारा रात करीब 10:00 बजे उसे कॉल किया तो, उसका मोबाइल बार-बार स्विच ऑफ  आ रहा था। घबरा कर उन्होंने उसके तीन-चार दोस्तों को कॉल कर वजीराबाद स्थित शिव के घर पर जाने के लिये कहा, मगर वहां ताला लगा हुआ था। थक हारकर परिजनों ने सुबह होने का इंतजार किया और करीब 5:00 बजे उन्हें पुलिस से शिव की मौत की खबर मिली। वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों की मानें तो घटना स्थल के आसपास ज्यादा अंधेरा होने की वजह से किसी भी सीसीटीवी कैमरों में फुटेज साफ  नहीं आ रहा है। जिसकी वजह से हत्यारोपियों की पहचान नहीं हो सकी। हालांकि, वजीराबाद थाना पुलिस लूटपाट और प्रेम प्रसंग के एंगल को ध्यान में रखते हुए छानबीन कर रही है। 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.