Monday, Aug 10, 2020

Live Updates: Unlock 3- Day 10

Last Updated: Mon Aug 10 2020 03:01 PM

corona virus

Total Cases

2,217,649

Recovered

1,536,259

Deaths

44,499

  • INDIA7,843,243
  • MAHARASTRA515,332
  • TAMIL NADU296,901
  • ANDHRA PRADESH227,860
  • KARNATAKA178,087
  • NEW DELHI145,427
  • UTTAR PRADESH122,609
  • WEST BENGAL95,554
  • TELANGANA80,751
  • BIHAR79,720
  • GUJARAT71,064
  • ASSAM58,838
  • RAJASTHAN53,095
  • ODISHA47,455
  • HARYANA41,635
  • MADHYA PRADESH39,025
  • KERALA34,331
  • JAMMU & KASHMIR24,897
  • PUNJAB23,903
  • JHARKHAND18,156
  • CHHATTISGARH12,148
  • UTTARAKHAND9,732
  • GOA8,712
  • TRIPURA6,223
  • PUDUCHERRY5,382
  • MANIPUR3,753
  • HIMACHAL PRADESH3,375
  • NAGALAND2,781
  • ARUNACHAL PRADESH2,155
  • LADAKH1,688
  • DADRA AND NAGAR HAVELI1,555
  • CHANDIGARH1,515
  • ANDAMAN AND NICOBAR ISLANDS1,490
  • MEGHALAYA1,062
  • SIKKIM866
  • DAMAN AND DIU838
  • MIZORAM620
Central Helpline Number for CoronaVirus:+91-11-23978046 | Helpline Email Id: ncov2019 @gov.in, ncov219 @gmail.com
delhi police affidavit delhi riots caa nrc kmbsnt

CAA के आते ही दिसंबर में लिख ली गई थी दंगों की पटकथा- दिल्ली पुलिस

  • Updated on 7/10/2020

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। दिल्ली दंगों को लेकर पुलिस ने कोर्ट में हलफनामा दायर किया है, जिसमें कहा गया है कि दिल्ली दंगों की साजिश संशोधित नागरिकता बिल लाए जाने के बाद दिसंबर 2019 में ही रच ली गई थी। पुलिस ने कहा है कि 13-15 दिसंबर को जामिया नगर में हुए दंगों के दौरान ही दिल्ली हिंसा को अंजाम देने का प्लान तैयार हुआ था। इस प्लान में जामिया विश्वविद्यालय के छात्रों का समूह, स्थानीय लोगों का समूह जिसमें कई नेता भी शामिल थे। 

दिल्ली पुलिस ने कोर्ट से इस पूरे मामले में चार्जशीट दाखिल करने के लिए 17 दिसंबर 2020 तक का समय मांगा है। इस मामले की जांच कर रही स्पेशल सेल ने कोर्ट में कहा कि दिल्ली दंगों की साजिश बड़े स्तर पर रची गई थी। संशोधित नागरिकता कानून और एनआरसी को लेकर पूरी दिल्ली में कई जगह विरोध प्रदर्शन हो रहे थे। इस दौरान एक समुदाय के बुद्धिजीवियों ने लोगों को भड़काने का काम किया। 

स्पेशल सेल के हाथ लगा दिल्ली दंगों से जुड़ा रजिस्टर, दर्ज है दंगाइयों को दी जाने वाली रकम

'नेताओं और बुद्धिजीवियों ने भारत सरकार के खिलाफ नारे लगवाए'
पुलिस ने ये भी कहा कि इन नेताओं और बुद्धिजीवियों ने भारत सरकार के खिलाफ नारे लगवाए और माहौल को खराब करने की कोशिश की। इस समूह के लोग खुरेजी प्रदर्शन स्थल को संभाल रहे थे। पुलिस का कहना है कि खुरेजी से ही दंगों की शुरुआत हुई। इसके बाद दंगों के दूसरे चरण की शुरुआत भी खुरेजी से हुई। 23 फरवरी को पटपड़गंज में चक्का जाम किया गया। इसके बाद 26 फरवरी से जगतपुरी और खुरेजी में दंगे शुरू हो गए थे। 

दिल्ली दंगा: बीजेपी नेता पर इरफान की हत्या का आरोप, 26 मार्च से जेल में बंद

'एक समुदाय विशेष पर अत्याचार'
पुलिस ने कहा है कि इसी प्रकार की रणनीति हर प्रदर्शन स्थल पर अपनाई गई। इस दौरान अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप भारत दौरे पर आए हुए थे। दंगो का मास्टरमांइंड बताए गए उमर अबदुल्ला ने अपने भड़काउ भाषण में कहा था कि ट्रंप को दिखाना है कि भारत में एक समुदाय विशेष पर अत्याचार हो रहा है। इसके बाद दिल्ली में दंगे भड़के।

यहां पढ़ें कोरोना से जुड़ी महत्वपूर्ण खबरें-

comments

.
.
.
.
.