Thursday, Dec 12, 2019
delhi police arrested shyam nagar fake website of central government

केंद्र सरकार की फर्जी वेबसाइट बनाने पर एक व्यक्ति गिरफ्तार

  • Updated on 7/24/2019

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। प्रधानमंत्री ग्रामीण डिजिटल साक्षरता अभियान (PGDSA) का कथित रूप से फर्जी वेबसाइट (Fake Website) बनाने और केंद्र सरकार (Central Govt.) की योजना के तहत नौकरी देने का झांसा देकर करीब 100 लोगों को चूना लगाने के मामले में पुलिस ने 34 वर्षीय एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया है।

मुंबई : मूसलाधार बारिश के चलते 3 गाड़ियां आपस में भिड़ी, 8 लोग घायल

पुलिस ने बुधवार को बताया कि मामले में आरोपी प्रसेनजीत चटर्जी को पश्चिम बंगाल (Paschim Bengal) में उत्तरी 24 परगना जिले से मंगलवार को गिरफ्तार किया गया। उन्होंने बताया कि फर्जी सरकारी वेबसाइट के बारे में इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय (Ministry of Electronics and Information Technology) के सतर्कता अधिकारी हरि सेवक शर्मा की शिकायत पर साइबर अपराध शाखा ने भारतीय दंड संहिता और आईटी अधिनियम की विभिन्न धाराओं में मामला दर्ज किया।

कर्नाटक: येदियुरप्पा ने कहा लोकतंत्र की जीत तो राहुल ने बताया ईमानदारी और जनता की हार

पुलिस ने बताया कि जांच के दौरान यह पाया गया कि आरोपी ने सरकारी वेबसाइट जैसी ही एक अन्य वेबसाइट बनाई। उसमें दावा किया गया था कि यह पश्चिम बंगाल के ग्रामीण डिजिटल साक्षरता अभियान की अधिकारिक वेबसाइट है। उसने शिक्षक की नौकरी योजना के तहत लोगों को पंजीकरण करा कर उनसे पैसे मांगकर लगभग 100 लोगों को धोखा दिया। शिकायत मिलने के बाद पुलिस ने वेबसाइट को बंद कर दिया। जांच के आधार पर, आरोपी की पहचान की गई और उसे साइबर अपराध इकाई के इंस्पेक्टर भानु प्रताप के नेतृत्व में एक टीम ने गिरफ्तार कर लिया।

OBC को 27 प्रतिशत आरक्षण देगी कमलनाथ सरकार, विधेयक विधानसभा में पारित

पुलिस ने कहा कि उसका लैपटॉप कंप्यूटर और हार्ड डिस्क जब्त कर लिया गया। गौरतलब है कि केन्द्र सरकार की प्रधानमंत्री ग्रामीण डिजिटल साक्षरता अभियान का लक्ष्य छह करोड़ ग्रामीण परिवारों को डिजिटल रूप से साक्षर बनाना है।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.