Wednesday, Aug 10, 2022
-->
delhi-police-arrested-three-accused-including-two-shooters-in-moosewala-murder-case

मूसेवाला हत्याकांड : दिल्ली पुलिस ने दो शूटर समेत तीन आरोपियों को किया  गिरफ्तार

  • Updated on 6/20/2022


नई दिल्ली/टीम डिजिटल। दिल्ली पुलिस के विशेष प्रकोष्ठ ने पंजाबी गायक सिद्धू मूसेवाला की हत्या के सिलसिले में दो शूटर समेत तीन लोगों को गिरफ्तार किया है। अधिकारियों ने सोमवार को बताया कि आरोपियों की पहचान हरियाणा के सोनीपत निवासी प्रियव्रत उर्फ फौजी (26), झज्जर जिले का रहने वाला कशिश (24) और पंजाब के बङ्क्षठडा का निवासी केशव कुमार (29) के तौर पर हुई है।   

अग्निपथ योजना के बचाव में उतरे बाबा रामदेव और श्री श्री रविशंकर  

  पुलिस ने कहा कि तीनों को 19 जून को गुजरात के कच्छ से गिरफ्तार किया गया है।  दिल्ली पुलिस में विशेष आयुक्त एचजीएस धालीवाल ने कहा कि आरोपियों ने हत्याकांड से पहले कई बार क्षेत्र की टोह ली थी। धालीवाल ने यहां पत्रकार वार्ता में बताया कि गिरफ्तार आरोपियों के पास से आठ ग्रेनेड, नौ इलेक्ट्रिक डेटोनेटर, तीन पिस्तौल और एक असॉल्ट राइफल बरामद की गई है। सिद्धू मूसेवाला के नाम से मशहूर शुभदीप सिंह सिद्धू की 29 मई को पंजाब के मानसा जिले में अज्ञात हमलावरों ने गोली मारकर हत्या कर दी थी।  

अग्निपथ के आवेदकों को प्रदर्शन, आगजनी में शामिल नहीं होने के संबंध में देना होगा शपथ पत्र 

     पुलिस ने बताया कि प्रियव्रत ने शूटर की एक टीम का नेतृत्व किया और घटना के समय कनाडा में रहने वाले गैंगस्टर गोल्डी बराड़ के सीधे संपर्क में था। वह हत्या का मुख्य शूटर है और उसने ही इसे अंजाम दिया था।  बराड़ ने प्रसिद्ध गायक एवं कांग्रेस नेता की हत्या की जिम्मेदारी ली थी। घटना से पहले एक पेट्रोल पंप के सीसीटीवी फुटेज में प्रियव्रत को देखा जा सकता है। पुलिस ने कहा कि वह भी पहले हत्या के दो मामलों में शामिल रहा है और 2015 में सोनीपत में एक मामले में उसे गिरफ्तार किया गया था और वह 2021 में सोनीपत में हुई हत्या के एक अन्य मामले में भी वांछित था।   

CM मान ने पंजाब यूनिवर्सिटी को लेकर अमित शाह को लिखा पत्र, जताई आपत्ति

  पुलिस ने कहा कि कशिश भी एक शूटर है और सीसीटीवी फुटेज में उसे भी देखा गया था। वह हरियाणा के झज्जर में 2021 में की गई हत्या के एक मामले में वांछित है। पुलिस ने बताया कि कुमार उनका मददगार था और गोलीबारी के फौरन बाद शूटर को एक ऑल्टो कार में ले गया था। पुलिस ने कहा कि वह घटना वाले दिन मानसा तक शूटर के साथ रहा। उन्होंने कहा कि वह 2020 में बठिंडा में हत्या के एक मामले में गिरफ्तार किया गया था और उसके पंजाब में जबरन वसूली के अन्य मामलों में शामिल होने का शक है।

अब हमें भाजपा के ‘मैं भी चौकीदार’ आंदोलन का मतलब समझ आया : कांग्रेस

 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.