Monday, Mar 01, 2021
-->
delhi police charge sheet against 83 foreign nationals markaz case kmbsnt

मरकज मामले में 83 विदेशी जमातियों के खिलाफ चार्जशीट दाखिल, 12 जून को होगी सुनवाई

  • Updated on 5/26/2020

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। दिल्ली पुलिस (Delhi Police) निजामुदद्दीन मरकज मामले (Nizamuddin Markaz Case) में आज साकेत कोर्ट (Saket Court) में 20 देशों के 83 जमातियों के खिलाफ चार्जशीट (charge sheet) दाखिल कर दी है। अलग-अलग धाराओं के तहत विदेशी जमातियों के खिलाफ चार्जशीट दाखिल की है। मामले की सुनवाई 12 जून को होगी। 

बताया जा रहा है कि 83 जमाती जिनके खिलाफ चार्जशीट दाखिल की जा रही है उनमें अमेरिका के 5, यूनाइटेड किंगडम के 3, सऊदी अरब के 10, फिलीपींस के 6, चीन के 7, ब्राजील के 8 , अफगानिस्तान के 4, सूडान के 6 और अन्य देशों के कुछ लोग शामिल हैं। विदेशी जमातियों पर फॉरेन एक्ट, महामारी एक्ट, और आपदा एक्ट की धाराओं के तहत चार्जशीट दाखिल की जा रही है। चार्जशीट में मौलाना साद और मरकज के प्रबंधन के बारे में लिखा गया है। इसके बाद मौलाना साद की मुश्किलें और बढ़ने वाली हैं। 

कई जमाती पूछताछ में पहले ही बता चुके हैं कि 20 मार्च के बाद मौलाना साद के कहने पर वो मरकज में रुके थे। सूत्रों की माने तो अब तक 943 जमातियों से पूछताछ की जा चुकी है और इन सभी के खिलाफ चार्जशीट दाखिल होना तय है। हालांकि अभी दिल्ली पुलिस 83 विदेशी जमातियों के खिलाफ चार्जशीट दाखिल कर रही है। 

विदेशी जमतियों ने मौलाना साद पर लगाए गंभीर आरोप, क्राइम ब्रांच कर रही पूछताछ

700 जमातियों के पासपोर्ट जब्त
बता दें कि तबलीगी जमात के विदेशी सदस्य जो अपना क्वारंटाइन पीरियड खत्म कर चुके हैं, उनके पासपोर्ट (Passport) सरकार ने जब्त कर लिए हैं। ऐसे 700 से ज्यादा जमातियों के पासपोर्ट जब्त किए गए हैं। ये वो लोग हैं जो कोरोना संकट के बीच दिल्ली के निजामुद्दीन मरकज में मौलान साद द्वारा आयोजित किए गए कार्यक्रम में शामिल हुए थे। जमात से जुड़े हजारों लोगों ने हाल ही में अपना क्वारंटाइन पीरियड पूरा कर लिया है। 

दिल्ली हाईकोर्ट पहुंचा जमातियों को क्वारंटाइन के नाम पर कैद करने का मामला

567 जमातियों को किया था पुलिस के हवाले
दिल्ली की केजरीवाल सरकार ने सभी जिलाधिकारियों को आदेश दिया था कि वो अपना क्वारंटाइन पीरियड पूरा कर चुके 2446 जमातियों को छोड़ दे। इसके बाद ये अपने घर जा सकते थे, लेकिन मरकज के कार्यक्रम में शामिल हुए 567 जमातियों को पुलिस के हवाले कर दिया गया था।  इनको वीजा उल्लंघन के मामले में पुलिस को सौंप दिया गया था।

यहां पढ़ें कोरोना से जुड़ी महत्वपूर्ण खबरें

comments

.
.
.
.
.