Thursday, Oct 28, 2021
-->
Delhi Police said about the violence criminals will not be spared DJSGNT

हिंसा को लेकर दिल्ली पुलिस ने कहा- अपराधियों को नहीं बख्शा जाएगा

  • Updated on 1/27/2021

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। 72वें गणतंत्र दिवस पर दिल्ली (Delhi) में हुई हिंसा को लेकर चारोओर निंदा हो रही है। दिल्ली पुलिस की इस हिंसा के कारण किरकिरी हो रही है। इसी बीच दिल्ली के पुलिस आयुक्त एस एन श्रीवास्तव ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर पूरे घटना की जानकारी दी। उन्होंने कहा कि दिल्ली पुलिस को ज्ञात हुआ कि किसान 26 को ट्रैक्टर रैली करने जा रहे है। हमने किसानों से कहा कि कुंडली, मानेसर, पलवल पर ट्रैक्टर मार्च निकाले। लेकिन किसान दिल्ली में ही ट्रैक्टर रैली निकालने पर अडिग रहे।

सीपी ने कही ये बात
उन्होंने कहा कि किसानों ने कल पुलिस के द्वारा दिए गए दिशानिर्देशों का उल्लंघन करते हुए पुलिस बैरिकेड तोड़कर हिंसक घटनाएं की। कुल मिलाकर 394 पुलिसकर्मी घायल हुए हैं और कुछ पुलिसकर्मी ICU में भी है। हम दिल्ली में गैर-क़ानूनी तरीके से किए गए आंदोलन और उस दौरान हिंसा और लाल किले पर फहराए गए झंडे को बड़ी गंभीरता से ले रहे हैं। हिंसा करने वालों की वीडियो हमारे पास है, विश्लेषण हो रहा है।

राकेश टिकैत के साथ आए नेता भी जिम्मेदार
उन्होंने आगे कहा कि गाजीपुर में किसान नेता राकेश टिकैत के साथ जो किसान मौजूद थे उन्होंने भी हिंसा की घटना को अंजाम दिया और आगे बढ़कर अक्षरधाम गए, हालांकि पुलिस द्वारा कुछ किसानों को वापस भेजा गया लेकिन कुछ किसानों ने पुलिस बैरिकेड तोड़े और लाल किले पहुंचे।

गिरफ्तार होगा
उन्होंने आगे कहा कि पहचान की जा रही है, गिरफ़्तारियां की जाएंगी। अब तक 25 से ज्यादा मामले दर्ज़ किए गए हैं। कोई भी अपराधी जिसकी पहचान होती है, उसे छोड़ा नहीं जाएगा। जो किसान नेता इसमें शामिल हैं उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

comments

.
.
.
.
.