Tuesday, Jan 25, 2022
-->
delhi-s-robber-gang-robbed-a-cigarette-trader

दिल्ली के लुटेरा गैंग ने की थी सिगरेट व्यापारी से लूट

  • Updated on 12/9/2021

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। 18 नवम्बर को फायरिंग कर सिगरेट व्यापारी आमिर मलिक से 5 लाख रुपए का कैश लूटने वाले चार शातिर लुटेरों को साहिबाबाद पुलिस ने गिरफ्तार किया है। आरोपियों में गोदाम का सिक्योरिटी गार्ड भी शामिल है। आरोपियों के पास से पुलिस ने लूटे गए कैश में से 2.70 लाख रुपए, घटना में प्रयुक्त दिल्ली से चुराई गई बाइक और हथियार बरामद किए हैं। पुलिस का कहना है कि पकड़े गए सभी आरोपियों पर संगीन धाराओं के आपराधिक मामले दर्ज हैं। सिगरेट व्यापारी के साथ गोदाम के ही सिक्योरिटी गार्ड ने दिल्ली के लुटेर गैंग से मिलकर लूट की घटना को अंजाम दिया था। 


एसपी सिटी सेकेंड ज्ञानेन्द्र सिंह ने बताया कि पुलिस ने मुखबिर की सूचना के आधार पर अर्थला स्थित गैस गोदाम के पास से चार बदमाशों को गिरफ्तार किया। जिनमें शाहदरा दिल्ली निवासी हितेन्द्र कुमार उर्फ जीते, पड़पडग़ंज दिल्ली निवासी दीपक उर्फ कांना, रोहिणी दिल्ली निवासी वीरेन्द्र उर्फ बबलू और डाबड़ी दिल्ली निवासी विजय शामिल हैं। जबकि आरोपियों के दो साथी शाहरूख उर्फ सानू और सलमान फरार हैं। जिनकी तलाश की जा रही है। हितेन्द्र उर्फ जीते साहिबाबाद के साइट.4 स्थित डीएस सेल्स सिगरेट गोदाम का सिक्योरिटी गार्ड है। एसपी सिटी सेकेंड ने बताया कि गार्ड हितेन्द्र को कंपनी के पैसे के आने और जाने की पूरी जानकारी थी। हितेन्द्र पूर्व में हत्या के एक मामले में जेल जा चुका है। एसपी सिटी की मानें तो आरोपियों का गैंग दिल्ली.एनसीआर क्षेत्र में लूट और चोरी की घटनाओं को अंजाम देता है। 


लालकिले पर बनाई थी हितेन्द्र व विजय ने लूट की योजना
एसपी सिटी ज्ञानेन्द्र सिंह ने बताया कि करीब डेढ़ माह पूर्व गोदाम के सिक्योरिटी गार्ड हितेन्द्र उर्फ जीते की मुलाकात आरोपी विजय से लालकिले पर हुई थी। विजय भी सिक्योरिटी गार्ड की नौकरी करता है। हितेन्द्र ने विजय के साथ मिलकर लालकिले पर ही कंपनी का कैश लुटवाने की योजना बनाई थी। जिसके बाद विजय ने शातिर लुटेरे वीरेन्द्र उर्फ बबलू से संपर्क साधा। एसपी सिटी ने बताया कि दिल्ली की जेल में बंद रहने के दौरान विजय और वीरेन्द्र के बीच दोस्ती हो गई थी। जिसकी वजह से सिगरेट व्यापारी को लूटने के लिए विजय ने वीरेन्द्र से चर्चा की। वीरेन्द्र ने ही दीपक और फरार बदमाश शाहरूख उर्फ सानू और सलमान को घटना के लिए जुटाया था। 


दो दिन पूर्व कर ली थी गोदाम से किराना मंडी तक की रैकी
एसएचओ साहिबाबाद नागेन्द्र चौबे ने बताया कि योजना को अमलीजामा पहनाने के लिए बदमाशों ने घटना से दो दिन पूर्व सिगरेट गोदाम से लेकर किराना मंडी तक के रास्तों की रैकी कर ली थी। 18 नवम्बर को जब सिगरेट व्यापारी छोटा हाथी में भरा माल बेच कर लौट रहे थे तो बदमाशों ने उन्हें हिंडल पुल के पास रोक लिया था। इसके बाद बदमाश फायरिंग कर व्यापारी से कैश लूट कर फरार हो गए थे। 


पूर्व में जेल जा चुके हैं पकड़े गए सभी आरोपी
एसएचओ ने बताया कि पकड़े गए सभी आरोपियों का आपराधिक रिकॉर्ड काफी लम्बा है। जिसकी वजह से सभी आरोपी पूर्व में भी जेल जा चुके हैं। गार्ड हितेन्द्र पर जहां हत्या समेत अन्य धाराओं के तीन मामले दर्ज हैं। वहीं, दीपक पर लूट व चोरी के 15 मामले, विजय पर 7 केस और वीरेन्द्र पर 6 केस दर्ज हैं। एसएचओ ने बताया कि आरोपी दिल्ली से चुराए गए वाहनों पर लूट की वारदात करते हैं। आरोपियों ने बरामद बाइक भी दिल्ली के गणेशपुरी इलाके से चोरी की पाई गई है। 


लूट के लिए लुटेरों ने किया लुटेरों को हायर
सीओ साहिबाबाद आलोक दुबे ने बताया कि पकड़ा गया आरोपी विजय दिल्ली में 6 किलो सोना लूट के मामले में जेल जा चुका है। गोदाम के गार्ड हितेन्द्र ने लुटेरों को व्यापारी के पास 20 लाख रुपए होने की सूचना दी थी। लूट की बड़ी वारदात को अंजाम देने के लिए लुटेरे विजय, वीरेन्द्र और दीपक ने फरार लुटेरों शाहरूख और सलमान को हायर किया था। पुलिस का कहना है कि  फायरिंग के बावजूद बदमाश सिगरेट व्यापारी आमिर मलिक से नोटों भरा एक ही ही बैग लूट पाए थे। जबकि दो बैग उनके वाहन छोटा हाथी में रह गए थे। अगर बदमाश तीनों बैग को लूटने में कामयाब हो जाते तो घटना बड़े कैश लूट की हो जाती। 
 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.