Friday, May 07, 2021
-->
delhi women commission pleads with cji bobde for justice in hathras gang rape case rkdsnt

हाथरस गैंग रेप मामले में न्याय के लिए दिल्ली महिला आयोग ने CJI बोबडे से लगाई गुहार

  • Updated on 9/30/2020


नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाती मालीवाल (Swati Maliwal) ने बुधवार को देश के प्रधान न्यायाधीश को पत्र लिख कर उन अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई करने का अनुरोध किया जो हाथरस सामूहिक बलात्कार एवं हत्या कांड की कथित रूप से लीपापोती करने में शामिल हैं। मालीवाल ने पत्र में उच्च न्यायालय की देखरेख में मामले की जांच एवं सुनवाई सुनिश्चित कराने तथा आरोपियों को सख्त से सख्त सजा दिये जाने का भी अनुरोध किया है। 

हाथरस कांड को लेकर सीएम योगी से प्रियंका गांधी ने पूछे कुछ अहम सवाल

यह पत्र उच्चतम न्यायालय के न्यायाधीशों के नाम भी संबोधित किया गया है। पत्र में मालीवाल ने अपने अनुरोध को सूचीबद्ध करते हुये कहा है,‘उन सभी पुलिसवालों एवं वरिष्ठतम अधिकारियों समेत प्रशासनिक अधिकारियों को निलंबित किया जाये और उनके खिलाफ कठोर कदम उठाया जाये जिन्होंने इस मामले पर लीपापोती का प्रयास किया है । ऐसी व्यवस्था बननी चाहिये कि किसी और बेटी के साथ इस तरह की घटना नहीं हो।’ 

देश की जीडीपी नकारात्मक होने के बावजूद अंबानी-अदानी की संपत्ति में जबर्दस्त इजाफा

मालीवाल ने कहा कि हाथरस में 19 साल की दलित लड़की के साथ चार लोगों द्वारा किया गया सामूहिक बलात्कार दिल को दहला गया है। उन्होंने कहा, ‘हाथरस सामूहिक बलात्कार एवं हत्या की घटना ने एक बार फिर माताओं एवं बेटियों के प्रति तंत्र की उदासीनता और अवहेलना को उजागर कर दिया है। पीड़िता का 14 सितंबर को सामूहिक बलात्कार किया गया और जख्मी हालत में उसे खेतों में मरने के लिये छोड़ दिया गया था।‘ 

हाथरस सामूहिक बलात्कार पीड़िता के परिवार को दिल्ली पुलिस ने उठाया, बैठे थे धरने पर

पत्र में दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष ने आरोप लगाया गया है कि मामले में पुलिस एवं पूरी उत्तर प्रदेश सरकार की भूमिका गंभीर चिंता का विषय है क्योंकि कई दिनों तक प्रशासन ने इस मामले को गांवों के बीच का विवाद बताते हुये ढंकने का प्रयास किया। उन्होने कहा कि अगर परिवार की अपील पर पहले ही कार्रवाई की गई होती और पीड़िता को पहले ही दिल्ली भेजा जाता तो शायद हम अपनी एक ओर बेटी को नहीं खोते। 

सपा और AAP ने लगाए यौन उत्पीड़न के आरोपी BJP नेताओं के पोस्टर

सामूहिक बलात्कार का शिकार युवती ने दो सप्ताह तक मौत से जूझते हुये दिल्ली के अस्पताल में आखिरी सांस ली और हाथरस में बुधवार की सुबह उसका अंतिम संस्कार किया गया। इस दौरान परिजनों ने आरोप लगाया कि स्थानीय पुलिस ने अंतिम संस्कार करने के लिये परिवार पर दबाव बनाया था।

 

यहां पढ़ें कोरोना से जुड़ी महत्वपूर्ण खबरें...

comments

.
.
.
.
.