Sunday, May 26, 2019

रिश्तों में घुली कड़वाहट, साले ने जीजा पर दाग दी गोली

  • Updated on 5/16/2019

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। शादी के बाद पता चला कि दोनों का गोत्र एक ही है तो गुस्साए साले ने अपने ही जीजा पर गोली दाग दी। साले ने इस घटना को अंजाम अपने भाई और दोस्तों के साथ मिलकर दिया। जिस जीजा को गोली मारी गई है वह नेशनल पावर लिफ्टिंग चैंपियन है हालांकि एक ही गोली बॉबी को लगी है। उसे उपचार के लिए डीडीयू अस्पताल में भर्ती कराया गया है,जहां पर उसकी हालत खतरे से बाहर बताई जा रही है। वारदात के बाद से सारे आरोपी फरार चल रहे हैं। उत्तम नगर थाना पुलिस विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्जकर फरार आरोपियों की तलाश कर रही है। पुलिस अधिकारी के मुताबिक, बॉबी 2017 में नेशनल पावर लिफ्टिंग चैंपियनशिप का खिताब जीता था। अभी वह मोहन गार्डन स्थित एक जिम में ट्रेनर है। गोली उसके छोटे साले पारस उर्फ नितिन ने चलाई थी। वारदात के वक्त बड़ा साला नीरज कार में मौजूद था। वहीं छोटा साला पारस अपने दो दोस्तों के साथ बाइक पर था।

जानकारी के मुताबिक बॉबी(25) अपनी पत्नी निशा (25) के साथ नवादा इलाके में किराए के मकान में रहता है। पत्नी निशा ने वारदात के बाद पुलिस को बताया कि दोनों हस्तसाल गांव के रहने वाले हैं और एक-दूसरे के पड़ोसी है। उन्होंने छह माह पहले नवम्बर 2018 में प्रेम विवाह किया था। एक ही गोत्र होने के कारण दोनों का परिवार इस विवाह के पक्ष में नहीं थे। दोनों बागड़ी गोत्र से आते हैं। हालांकि शादी के बाद दोनों का परिवार इस शादी को मान गए थे। लेकिन निशा का दोनों भाई नीरज और पारस इस शादी का विरोध कर रहे थे। दोनों शादी के बाद भी अपनी बहन और जीजा को जान से मारने की धमकी दे रहे थे। इनके धमकी से परेशान होकर बॉबी और निशा गांव छोड़कर नवादा में किराए के मकान में रह रहे थे। बॉबी नेशनल खिलाड़ी रह चुका है। पत्नी निशा ने बताया कि उसका पति बॉबी मंगलवार रात 10:30 बजे खाना खाकर स्कूटी से घुमने गए थे। वह नवादा गोल चक्कर के पास रुककर अपने दो दोस्तों सौरभ और हर्ष के साथ बात कर रहा था। दोस्तों ने बताया कि बॉबी हमलोगों से बातचीत खत्म कर घर जा रहा था। तभी दीपक राव उसके पास आ गया और बातों में उलझा लिया। इसी दौरान उसका बड़ा साला नीरज कार पर मौके पर पहुंच गया।

दंपति ने पुलिस से सुरक्षा की मांग की
निशा ने पुलिस से अपने पति और अपनी जान की सुरक्षा मांगी है। उसने अपने पिता सत्यप्रकाश, भाई नीरज और पारस से जान का खतरा बताया है। उसका कहना है कि वारदात के बाद पुलिस इस मामले में ढीली पड़ी हुई है। वारदात के इतने घंटे के बाद भी उसका भाई आजाद घूम रहा है।

गोल्ड व सिल्वर मेडल जीत चुका है पीड़ित
बताया जा रहा है कि बॉबी देशबंधू कॉलेज से फाइनल ईयर की पढ़ाई कर रहा है। बीते साल अक्तूबर महीने में पॉवर लिफ्टिंग में गोल्ड मेडल जीता था। 2017 में बॉडी फिक्स में सिल्वर मेडल जीता था। उसके मायके वाले उसे और बॉबी को कभी भी जान से मार सकते हैं। 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.