divorce-given-to-wife-twice-in-8-years-forced-to-do-halal-with-father-and-brother

8 साल में दो बार पत्नी को दिया तलाक, पिता और भाई संग हलाला करने पर किया मजबूर

  • Updated on 2/7/2019

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। उत्तर प्रदेश के बरेली से एक अजीब मामला सामने आया है। यहां एक महिला को अपने पति के द्वारा तलाक देने के बाद ससुर के साथ हलाला करने को मजबूर होना पड़ा। 

यह मामला तब उजागर हुआ जब महिला ने अपने पति के खिलाफ 2017 में उसे दोबारा तलाक दिए जाने पर मुकदमा दर्ज कराया। महिला ने आरोप लगाया कि पति उसे दोबारा देकर उसे भाई के साथ हलाला करने के लिए भी मजबूर कर रहा था

JNU देशद्रोह मामले पर बोले केजरीवाल - चुनाव करीब आते ही पुलिस को चार्जशीट की आई याद

इस मामले में पीड़ित की बहन ने अदालत में जज अजय सिंह के समक्ष दाखिल याचिका में कहा कि उसकी बहन की शादी किला निवासी शख्स से 2009 में हुई थी।

याचिका में आगे कहा गया कि शादी के दो साल बाद बहन को कोई संतान न होने पर उसके ससुराल पक्ष ने उसे प्रताड़ित करना शुरू कर दिया। उसके साथ बुरा बर्ताव किया गया, कई दिनों तक उसे बिना भोजन के रखा गया और इसी बीच उसकी बहन को पति द्वारा यौन उत्पीड़न तक सहना पड़ा।

मिली जानकारी के मुताबिक, पीड़िता को पहली बार साल 2011 में तलाक दिया गया था। बाद में पीड़िता के परिवार ने उसके पति से अपने फैसले पर दोबारा विचार करन को कहा। दोबारा निकाह को लेकर पति ने अपनी शर्त रखते हुए पीड़िता को अपने पिता के साथ हलाला प्रक्रिया करने को कहा।

 घर में घुसकर आरोपी ने मारे माधुरी को चाकू, लगातार किए कई वार

पीड़िता की बहन ने बताया कि जब उसकी बहन ने हलाला प्रक्रिया से गुजरने से मना कर दिया तो उसके ससुराल पक्ष ने उसे जबरन संतान पैदा करने वाले इंजेक्शन लगवाए। इसके बाद उसके ससुर ने उसके साथ हलाला किया और अगले 10 दिनों तक उसने पीड़िता के साथ बलात्कार किया और बाद में उसे तीन तलाक दे दिया ताकि वह दोबारा अपने पति से निकाह कर सके। 

इन सबके 6 साल बाद यानी साल 2017 में एक बार फिर पीड़िता को तलाक दिया गया। इस बार भी पहले की तरह शर्त रखी गई लेकिन इस बार ससुर की जगह छोटा भाई था।इस बार ससुराल वालों ने उसके पति के छोटे भाई संग हलाला कराने पर जोर दिया।

आप कार्यकर्ता पर लगा महिला पार्षद के बेटे पर जानलेवा हमला करने का आरोप, जांच में जुटी पुलिस

कोर्ट ने इस मामले की अगली सुनवाई की तारीख 15 फरवरी तय की है। जानकारी के मुताबिक मामले में 498A, 377, 376, 323, 328, 511 और आईपीसी की धारा 120B के तहत पीड़िता के पति और ससुराल वालों के खिलाफ स्थानीय पुलिस स्टेशन में केस दर्ज किया गया है।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.