Tuesday, Nov 30, 2021
-->
do-not-be-happy-if-unknown-female-friends-send-gifts-three-including-women-caught-in-cheating

अंजान महिला मित्र गिफ्ट भेजे तो खुश न हों, महिला समेत तीन ठगी में पकड़े

  • Updated on 11/25/2021

नई दिल्ली। टीम डिजिटल। सोशल मीडिया पर दोस्ती करना और फिर गिफ्ट लेना कभी कभार कितना भारी पड़ जाता है। यह बात बुद्ध विहार इलाके में रहने वाले युवक को उस समय समझ में आई,जब उससे उसकी महिला जानकार दोस्त ने साथियों के साथ मिलकर उससे सवा तीन लाख रुपये ठग लिये। गैंग इस तरह से अनगिनत लोगों से लाखों रुपये ठग चुका था। ऐसे शातिर गैंग का पर्दाफाश बुद्ध विहार पुलिस ने किया है। गैंग की महिला समेत तीन को गिरफ्तार किया है। आरोपियों की पहचान  कोसम सुनीता उर्फ वांगो मैरी एनल, एंथनी डौंगिल और नेल्सन के रूप में हुई है। आरोपियों के कब्जे से तीन लाख रुपये, 82 डेबिट कार्ड, विभिन्न बैंकों के 40 चेक / पास बुक, 28 मोबाइल फोन, एक स्वाइप मशीन और आधार कार्ड, विभिन्न नामों के पैन कार्ड बरामद किए गए हैं। गिरोह के मास्टर माइंड रोनाल्ड कोनन और साइमन दोनों मूल रूप से नाइजीरिया के रहने वाले हैं। ठगी का पैसा भी नाइजीरिया जा रहा था।


जिला पुलिस उपायुक्त प्रणव तयाल ने बताया कि बीते अगस्त महीने में सेक्टर -5, रोहिणी में रहने वाले दिग्विजय भारद्वाज ने बुद्ध विहार पुलिस को एक लिखित शिकायत दी थी। जिसमें उन्होंने बताया कि  अगस्त महीने में, उसकी एक फेसबुक मित्र मारिया हिल्बर्ट ने व्हाट्सएप पर चैट करना शुरू किया था। एक दिन मारिया  नेउससे उसके कपड़ों के बारे में पूछा क्योंकि वह उसके लिए कपड़े भेज देगी। मारिया  ने 26 अगस्त को एक कूरियर रसीद के साथ कुछ कपड़ों की फोटो भी भेजी। बाद में, उसने उसे एक कूरियर कंपनी की श्वेता का एक मोबाइल फोन नंबर दिया।

उसने श्वेता को फोन किया। श्वेता ने उसे कहा कि आपको साढ़े 36 हजार रुपये कस्टम क्लीयरेंस चार्ज के रूप में देने होगें। श्वेता की बात में आकर उसने साढ़े 36 हजार रुपये दिये खाते में जमा करवा दिये। उक्त महिला ने आगे कहा कि उक्त कूरियर में 45 हजार अमेरिकी डॉलर हैं। इसके लिये और चार्ज की उसने बातें करके उससे विभिन्न खातों में  रुपये ट्रांसफर करवा लिये।  उसने तीन अलग-अलग खातों में सवा तीन लाख रुपये जमा किये। जब श्वेता  ने और पैसे जार्च करने की बात कही। उसको लगा कि वह ठगी का शिकार हो गया है।  

बुद्ध विहार में मामला दर्ज किया गया और जांच शुरू की गई। शुरूआती जांच में पुलिस टीम ने पीडि़त द्वारा जमा करवाए गए बैंकों के खातों के बारे में बैंक अधिकारियों से जानकारी ली। मोबाइल नंबरों के सीडीआर की जांच की गई। गैंग ने 100 से अधिक लोगों को एक ही तरीके से करोड़ों रुपये की ठगी की है। आरोपी क्रेडिट के तुरंत बाद एटीएम से पैसे निकाल लेता था। वे अन्य खातों में भी पैसे ट्रांसफर करते थे।

पैसे निकालने के बाद, वे इसे विभिन्न तरीकों से नाइजीरिया भेजते थे। गिरोह के मास्टर माइंड रोनाल्ड कोनन और साइमन दोनों मूल रूप से नाइजीरिया के रहने वाले हैं। अक्टूबर 2021 के महीने में पीएस मोहन गार्डन में एक दंगा मामले में रोनाल्ड कोनन को भी गिरफ्तार किया गया था। वह जे.सी. में चल रहा है। साइमन कुछ समय पहले भारत छोड़ चुका है। आरोपी कोसम सुनीता उर्फ वांगो मैरी एनल रोनाल्ड कोनन की गर्लफ्रेंड है। वह अलग-अलग लोगों से बैंक खाते की व्यवस्था करती थी, पैसे निकालती थी और नाइजीरिया में आरोपी नेल्सन को सौंपती थी।

एंथनी डौंगिल ने विभिन्न बैंकों में खाते खोले हैं और लेनदेन के कमीशन के आधार पर आरोपी कोसम सुनीता को देता था। आरोपी के पुलिस रिमांड पर मिलने के बाद इस मामले में और गिरफ्तारियां होने की संभावना है। आरोपियों से पूछताछ करने पर पता चला कि कोसम सुनीता उर्फ वैंगो मैरी एनल  ओम विहार इलाके में रह रही है। वह तलाकशुदा है और उसका एक लडक़ा है। वह मणिपुर विश्वविद्यालय से पढ़ाई की हैं।

वह पहले बीपीओ में काम कर चुकी हैं। वह रोनाल्ड कुरान के संपर्क में आई जो ऑनलाइन धोखाधड़ी जैसे अपराधों में शामिल है। आरोपी  एंथनी डौंगिल मुनिरका इलाके में रह रहा है। एंथोनी ने हायर सेकेंडरी तक पढ़ाई की है। वह पहले कॉल सेंटर में काम करता था। जबकि नेल्सन चंद्र विहार, निहाल विहार इलाके में रह रहा है।  2019 में वह भारत आया था। वह अविवाहित है।
 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.