Friday, Jan 28, 2022
-->
enforcement directorate ed arrest cmd of ahmedabad based company in money laundering case

बैंक फ्रॉड : इंटरपोल की मदद से गुजरात की कंपनी का CMD गिरफ्तार

  • Updated on 9/21/2019

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने शनिवार को कहा कि उसने करोड़ों रूपये की कथित बैंक धोखाधड़ी से जुड़े धनशोधन के एक मामले में अहमदाबाद की एक कंपनी के मुख्य प्रबंध निदेशक को गिरफ्तार किया है। उसने कहा कि साई इन्फोसिस्टम (आई) लिमिटेड के मुख्य प्रबंध निदेशक सुनील सुरेंद्रकुमार कक्कड़ को धनशोधन रोकथाम अधिनियम के तहत गिरफ्तार किया गया है। उससे पहले उसे लाईबेरिया में इंटरनेशनल पुलिस एजेंसी ने पकड़ा था।

चिन्मयानंद प्रकरण की पीड़िता और उसके मित्रों के खिलाफ SIT ने किया केस दर्ज

ईडी ने कहा कि कक्कड़ ने अहमदाबाद की अपनी कंपनियों-- साई इन्फोसिस्टम (आई) लिमिटेड, आत्रियम इंफोकॉम प्राइवेट लिमिटेड और क्लिक टेलीकॉम प्राइवेट लिमिटेड के माध्यम से अवैध रूप से 867.43 करोड़ रूपये अर्जित किए और उसने उस पैसे का धनशोधन भी किया। एजेंसी ने कथित बैंक ऋण धोखाधड़ी के मामले में सीबीआई द्वारा 2015 में दर्ज की गयी प्राथमिकी पर गौर करने के बाद पिछले साल उसके खिलाफ धनशोधन का आपराधिक मामला दर्ज किया था। 

चिन्मयानंद मुश्किल में, वकीलों की हड़ताल में फंसी जमानत याचिका

ईडी ने कहा है कि जांच से पता चला है कि 1992 में कक्कड़ ने एक साझेदारी कंपनी बनायी और फिर उसने तीन पब्लिक लिमिटेड कंपनियां बनायी एवं धोखाधड़ी से बैंक से कर्जा लिया। उसका ऋण चुकाने का इरादा कतई नहीं है। 

कॉलेजियम ने फैसला बदला, त्रिपुरा हाई कोर्ट के लिए न्यायमूर्ति कुरैशी के नाम की सिफारिश

एजेंसी ने कहा कि वह दुबई होते हुए लाईबेरिया भाग गया लेकिन इंटरपोल की मदद से उसे भारत वापस लाया गया है। उसने बताया कि कक्कड़ अपने परिवार को पहले ही अमेरिका के शिकागो पहुंचा चुका है। ईडी का आरोप है कि कई बार सम्मन जारी किये जाने के बाद भी वह जांच में शामिल नहीं रहा था।

#ExclusiveInterview : सेक्स रैकेट को लेकर मालीवाल बोलीं- दिल्ली को कतई बैंकॉक नहीं बनने दूंगी

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.