Friday, Dec 06, 2019
fake ips officer arrested eve teasing case in delhi ncr

खुद को IPS अधिकारी बताकर महिलाओं को परेशान करने वाला शख्स गिरफ्तार

  • Updated on 12/2/2019

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। फर्जी आईपीएस अधिकारी (IPS Officer) बनकर महिलाओं को फोन करके सरकारी नौकरी का प्रलोभन देकर परेशान करने वाले उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के एक व्यक्ति को छेड़छाड़ (Eve Teasing) के मामले में रविवार को गुरुग्राम (Gurugram) के एक गांव से गिरफ्तार किया गया। दिल्ली पुलिस (Delhi Police) ने यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि आरोपी की पहचान उत्तर प्रदेश के कुशीनगर जिले के रहने वाले गौरी शंकर (38) के रूप में हुई है। उसे हरियाणा (Haryana) के मुल्लाहेड़ा गांव से गिरफ्तार कर लिया गया। उसके खिलाफ आईपीसी की धारा 354 अ के तहत (महिलाओं से छेड़छाड़) का मामला दर्ज कर लिया गया है।

नित्यानंद आश्रम भूमि विवाद मामले में DPS की CBSE मान्यता रद्द

व्हाट्सएप पर अश्लील वीडियो और संदेश भेजता था आरोपी
पुलिस के मुताबिक गौरीशंकर महिलाओं को मोबाइल पर अश्लील संदेश और वीडियो भेजकर परेशान करता था। पुलिस ने बताया कि आरोपी महिलाओं को फोन कर खुद को आईपीएस अधिकारी बताता था और उन्हें सरकारी नौकरी दिलाने का प्रलोभन देता था। परिचय होने के बाद वह महिलाओं को व्हाट्सएप पर अश्लील वीडियो और संदेश भेजता था।

पिता की हैवानियत: दो बच्चियों को ईंट से कुचलकर मारा

महीने भर से परेशान कर रहा था शख्स
पुलिस उपायुक्त (दक्षिण) अतुल कुमार ठाकुर ने बताया कि यह मामला पहली बार 25 नवंबर को दक्षिणी दिल्ली (Delhi) के कोटला मुबारकपुर इलाके की एक महिला के शिकायत दर्ज कराने के बाद सामने आया था। महिला ने पुलिस को सूचना दी थी कि एक व्यक्ति करीब महीने भर से उसे अश्लील संदेश और अश्लील वीडियो भेजकर परेशान कर रहा है। वह उसे अक्सर फोन कर के गालियां देता था।

फर्जी नौकरी के गिरोह का सरगना गिरफ्तार, बना चुका है इतने लोगों को ठगी का निशाना

फर्जी IPS बन महिला को परेशान करने वाला व्यक्ति अरेस्ट
उन्होंने कहा कि जब पुलिस ने फोन नंबर पर संपर्क किया तो फोन उठाने वाले व्यक्ति ने खुद को आईपीएस अधिकारी बताया। उपायुक्त ने कहा जांच के दौरान यह पाया गया कि उस व्यक्ति ने एक फर्जी आईडी (Fake ID) पर नंबर खरीदा था या किसी और के नंबर का इस्तेमाल कर रहा था। नंबर गुजरात के आनंद जिले के पते पर लिया गया है।

पुलिस के मुताबिक गौरीशंकर से पीड़ित अधिकांश महिलाएं उत्तर प्रदेश और हरियाणा से हैं। गिरफ्तार होने के बाद आरोपी ने पुलिस को बताया कि कुशीनगर में उसकी सिम कार्ड बेचने की दुकान थी जिसकी वजह से उसके पास कई अनजान लोगों के फोन नंबर थे। चार साल पहले एक दुर्घटना के बाद उसे अपनी दुकान बंद करनी पड़ी। उसके बाद वह दिल्ली में एक सुरक्षा गार्ड की नौकरी करने लगा। वह खुद को उत्तर प्रदेश का वरिष्ठ पुलिस अधिकारी बता महिलाओं को फोन करने लगा।  

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.