Friday, Dec 06, 2019
fake job gang leader arrested in phagwara punjab

फर्जी नौकरी के गिरोह का सरगना गिरफ्तार, बना चुका है इतने लोगों को ठगी का निशाना

  • Updated on 12/2/2019

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। पंजाब (Punjab) में फर्जी नौकरी के नाम पर ठगी करने वाले एक गिरोह के मुख्य सरगना को फगवाड़ा से गिरफ्तार किया गया, जिसने पंजाब के 26 युवाओं को कथित तौर पर ठगा है। एक अधिकारी ने रविवार को बताया कि इनमें से 24 लोग अब भी रूस में फंस हुए हैं। 

मध्यप्रदेश: हनी ट्रैप मामले में पुलिस ने पांच जगहों पर की छापेमारी

फगवाड़ा के सहायक उपनिरीक्षक गुरमुख सिंह ने बताया कि गुप्त सूचना के आधार पर, पुलिस ने जाल बिछाया और मुक्तसर के कोटभाई गाँव के निवासी सुरिंदर सिंह को गिरफ्तार किया। उन्होंने कहा,‘‘उनकी गिरफ्तारी निकटवर्ती खुरमपुर गांव के सह आरोपी दलजीत सिंह द्वारा दी गई सूचना के आधार पर की गई, जिसे शुक्रवार को गिरफ्तार किया गया था।’’

कोलकाता Airport पर लाखों रुपये के सोने के साथ व्यक्ति गिरफ्तार

पुलिस ने बताया कि यह गिरफ्तारी जरनैल सिंह नामक एक व्यक्ति द्वारा दर्ज कराई गई शिकायत के बाद की गई। उाका बेटा गुरप्रीत (26) भी रूस में फंस हुआ है। अधिकारी ने बताया कि सुरिंदर सिंह ने सह आरोपी दलजीत सिंह के साथ फगवाड़ा के 26 युवकों को 35,000 रुपये के मासिक वेतन पर रूस की एक कंपनी में नौकरी देने का वादा करके धोखा दिया।

सेना में भर्ती कराने के नाम पर धोखाधड़ी, 3 लोग गिरफ्तार

 उन्होंने कहा कि कंपनी में नौकरी दिलवाने के वादा पर प्रत्येक युवा ने उन्हें 1.32 लाख रुपये दिए थे। लेकिन जब उन्होंने कंपनी में काम करना शुरू किया, तो कंपनी ने उनमें से प्रत्येक को प्रति माह सिर्फ 20,000 रुपये ही दिए। पुलिस ने बताया कि 26 युवकों में से एक मलकियत सिंह उर्फ ??सोनू (30) की बीमारी से मौत हो गई क्योंकि वह जिस कंपनी में काम कर रहा था, उसने उसे समय पर चिकित्सा मुहैया नहीं कराई।

उसी कंपनी में काम करने वाले उसके दोस्त जोगिंदर पाल ने बताया, ‘‘सोनू अवसाद में चला गया था क्योंकि वह रूस में फंसे होने के दबाव में था।’’  पाल ने आरोप लगाया कि सोनू के शव को वापस लाने के लिए कंपनी ने कोई सहयोग नहीं किया और न ही कोई आर्थिक मदद दी। उन्होंने बताया कि उसने और 24 युवाओं ने इसके लिए चार-पांच लाख रुपये जमा किए।    

comments

.
.
.
.
.