Sunday, Dec 04, 2022
-->
fire-in-patparganj-industrial-area-factory-1-worker-killed-five-scorched

पटपडग़ंज औद्यौगिक क्षेत्र फैक्ट्री में  आग1 कर्मचारी की मौत, पांच झुलसे

  • Updated on 8/24/2022

पटपडग़ंज औद्यौगिक क्षेत्र फैक्ट्री में  आग1 कर्मचारी की मौत, पांच झुलसे

पूर्वी दिल्ली, 24 अगस्त (नवोदय टाइम्स): पूर्वी दिल्ली के पटपडग़ंज औद्योगिक क्षेत्र की एक फैक्टरी में बुधवार दोपहर आग लग गई। आग लगने से फैक्टरी में काम करने वाले छह कर्मचारी अंदर फंस गए। पांच कर्मचारी किसी प्रकार बाहर निकल आए लेकिन दम घुटने से एक की कर्मचारी की मौत हो गई। मौके पर पहुंची दमकल की नौ गाडिय़ों ने दो घंटे बाद आग पर काबू पाया। पुलिस ने वीरू (26) के शव को लाल बहादुर शास्त्री अस्पताल की मोर्चरी में रखवा दिया है। प्राथमिक जांच में शॉर्ट सर्किट से आग लगने की आशंका जताई जा रही है।

दिल़्ली दमकल विभाग से मिली जानकारी के अनुसार बुधवार लगभग 1 बजे पटपडग़ंज इंडस्ट्रियल एरिया की एक फैक्ट्री में आग लगने की सूचना मिली थी। मौके पर आधा दर्जन फायर टेंडर की गाडिय़ों को भेजा गया। आग बिल्डिंग के दूसरी मंजिल पर बने कूरियर कंपनी के दफ्तर में लगी थी। बिल्डिंग में फंसे 6 लोगों को बाहर निकाला गया जिनमें एक की मौत हो गई।

पटपडग़ंज इंडस्ट्रियल एरिया में दिल्ली नगर निगम के दफ्तर के पास दो मंजिला इमारत के भूतल और प्रथम तल पर इलेक्ट्रिकल सामान का गोदाम है, जबकि दूसरी मंजिल पर इलेक्ट्रिक सामान पैक करने के अलावा केमिकल का काम होता है। बुधवार दोपहर 12:50 बजे फैक्टरी में अचानक आग लग गई। फैक्ट्री की दूसरी मंजिल पर छह कर्मचारी फंस गए।

किसी तरह पांच कर्मचारी आग की लपटों के बीच से गुजर कर बाहर निकलने के कामयाब रहे लेकिन वीरू बाहर नहीं आ सका। दमकल की गाडिय़ां मौके पर पहुंचीं तब तक आग पूरी तरह फैल चुकी थी। दमकलकर्मियों ने आग को काबू करना शुरू किया। करीब 1: 40 बजे आग पर काबू पाने के बाद दमकलकर्मी फैक्ट्री में घुसे तो वीरू अंदर अचेत अवस्था में पड़ा हुआ था। उसे निकालकर लाल बहादुर शास्त्री अस्पताल ले जाया गया, जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया।
 

परिवार में अकेला ही कमाने वाला था वीरू
मृतक वीरू परिवार के साथ गाजियाबाद स्थित कौशांबी के भोवापुर गांव में रहता था। परिवार में मां अनिता, पत्नी मधु और दो साल का बेटा है, पत्नी गर्भवती है। चार साल पहले वीरू और मधु की शादी हुई थी। पिछले पांच वर्षों से वह पटपडग़ंज औद्योगिक क्षेत्र की इस फैक्ट्री में काम कर रहा था। वह परिवार में अकेला कमाने वाला था। उसकी मौत से परिवार पर मुसीबतों का पहाड़ टूट गया है।

उसकी पत्नी व मॉ का रो-रो कर बुरा हाल है। वीरू की मॉ का कहना है कि वीरू को अपनी पत्ऩी मधु को शाम के समय चेकअप के लिये डॉक्टर के पास लेकर जाना था वह जल्दी आने की कह कर घर से गया था। लेकिन फोन पर उसके आग मे झुलस जाने की सूचना मिली पास में रहने वाले एक रिश्तेदार को लेकर अस्पताल पहुंचे तो पता चला कि वीरू की मौत हो चुकी है। वीरू की पत्नी मधु रो-रो कर बेहोश हो गई।  
 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.