Tuesday, Nov 30, 2021
-->
fraud-case-filed-against-15-including-loan-mafia-target-tanwar

लोन माफिया लक्ष्य तंवर समेत 15 पर धोखाधड़ी का केस दर्ज  

  • Updated on 10/28/2021

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। लोन माफिया के नाम से चर्चित लक्ष्य तंवर समेत 15 लोगों के खिलाफ धोखाधड़ी का एक और केस दर्ज किया गया है। आरोप है कि लक्ष्य तंवर ने बैंक के तत्कालीन मैनेजर और अन्य के साथ मिलकर फर्जी फर्मों पर 2 करोड़ रुपए का लोन ले लिया। इस मामले में रिटायर्ड डिप्टी एसपी लल्लू सिंह मोर्य ने लक्ष्य तंवर समेत 15 लोगों को नामजद करते हुए नगर कोतवाली में केस दर्ज कराया है। आरोपियों में बैंक के तत्कालीन मैनेजर और तीन फर्मों के नाम भी शामिल हैं। पुलिस मामले की जांच में जुटी है। लोन माफिया के खिलाफ इससे पूर्व भी दो दर्जन से अधिक धोखाधड़ी के मामले दर्ज हो चुके हैं। वह बैंक मैनेजर की मिलीभगत से बैंक को करीब 200 करोड़ रुपए का चूना लगा चुका है। 


दर्ज कराई गई एफआईआर में रिटायर्ड डिप्टी एसपी लल्लू सिंह मोर्य का कहना है कि लक्ष्य तंवर ने वर्ष 2015 में सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया की राइट गंज शाखा के तत्कालीन चीफ मैनेजर संजय कुमार तितरवे के साथ मिलकर अपनी मुंहबोली मां अलका रानी, उसके पति सुनील कुमार, सगी मां रेनू देवी और नरेश बग्गा को साजिश में शामिल कर अलका रानी की शिवम ट्रेडिंग कंपनी के नाम से फ र्जी फ र्म बनाई। फ र्म के नाम सेंट्रल बैंक में खाता खोला गया और अलका रानी के नाम व्यापार करने के लिए 2.60 करोड़ रुपए की ओडी लिमिट फ र्जी दस्तावेजों पर करा ली। इसके लिए नरेश बग्गा ने अपने दिवंगत पिता चरणजीत बग्गा के नाम की संपत्ति जो पूर्व में बेची जा चुकी थी के दस्तावेज बैंक में जमा किए। जबकि इस संपत्ति पर पूर्व में ही करोड़ों रुपए का बैंक लोन चल रहा था। इस बीच बैंक को जानकारी मिली कि चरणजीत बग्गा की मौत हो चुकी है। इस पर बैंक ने लक्ष्य पर दूसरी संपत्ति के दस्तावेज गारंटी के रूप में रखने का दबाव बनाया तो लक्ष्य ने दादरी में अलका रानी के नाम से 15.81 लाख रुपए का प्लाट खरीद कर उसके दस्तावेज बैंक में जमा कर दिए। बैंक ने लिमिट को घटाकर 2.60 करोड़ रुपए से 2 करोड़ रुपए कर दिया। सभी आरोपियों ने  लिमिट की रकम 2 करोड़ रुपए को आपस में बांट लिया और बैंक को यह धनराशि वापस नहीं की।

शिकायत के बाद पुलिस ने मामले की जांच की और फिर एसपी सिटी निपुण अग्रवाल के आदेश पर केस दर्ज कर लिया। पुलिस का कहना है कि जिन लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया गया है उनमें लक्ष्य तंवर, बैंक मैनेजर संजय कुमार तितरवे, अलका रानी, सुनील कुमार, रेनू देवी,  नरेश बग्गा, लक्ष्य की पत्नी प्रियंका तंवर, अशोका सैनेट्री के पार्टनर राजरानी कालरा, सूरज कालरा, अशोक कुमार, अजय पुरोहित,  विशेष बहल, रमेश रानी छतवाल, वीवी इंटरप्राइजेज,  राम कंस्ट्रक्शन कंपनी व सिद्ध इंटरप्राइजेज शामिल हैं। 
 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.