Sunday, Aug 09, 2020

Live Updates: Unlock 3- Day 8

Last Updated: Sat Aug 08 2020 10:28 PM

corona virus

Total Cases

2,150,912

Recovered

1,477,090

Deaths

43,446

  • INDIA7,843,243
  • MAHARASTRA503,084
  • TAMIL NADU290,907
  • ANDHRA PRADESH217,040
  • KARNATAKA172,102
  • NEW DELHI144,127
  • UTTAR PRADESH118,038
  • WEST BENGAL92,615
  • TELANGANA77,513
  • BIHAR75,786
  • GUJARAT69,986
  • ASSAM57,715
  • RAJASTHAN51,328
  • ODISHA44,193
  • HARYANA40,843
  • MADHYA PRADESH38,157
  • KERALA33,120
  • JAMMU & KASHMIR24,390
  • PUNJAB22,928
  • JHARKHAND16,542
  • CHHATTISGARH11,743
  • UTTARAKHAND9,402
  • GOA8,206
  • TRIPURA6,014
  • PUDUCHERRY5,123
  • MANIPUR3,635
  • HIMACHAL PRADESH3,242
  • NAGALAND2,688
  • ARUNACHAL PRADESH2,049
  • LADAKH1,639
  • DADRA AND NAGAR HAVELI1,459
  • CHANDIGARH1,426
  • ANDAMAN AND NICOBAR ISLANDS1,351
  • MEGHALAYA1,023
  • SIKKIM860
  • DAMAN AND DIU838
  • MIZORAM567
Central Helpline Number for CoronaVirus:+91-11-23978046 | Helpline Email Id: ncov2019 @gov.in, ncov219 @gmail.com
fraud steals customer data of flipkart and myntra

फ्रॉड करने वालों ने चोरी किया Flipkart व Myntra का कस्टमर डाटा

  • Updated on 12/2/2019

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। पिछले कुछ महीनों में ढेरों यूजर्स ऑनलाइन शॉपिंग (Online Shopping) के दौरान फ्रॉड का शिकार हुए हैं। सामने आया है कि स्कैमर ऑनलाइन शॉपिंग साइट्स पर दी गई यूजर्स की डिटेल्स का सहारा लेकर लोगों को झांसा देकर उन्हें शिकार बना रहे थे।

नोएडा पुलिस ने 45 लोगों को किया अरेस्ट
नोएडा (Noida) में इसी तरह के एक फर्जी कॉल सेंटर (Fake Call Center) को बंद करवाया गया है और यूजर्स को फ्रॉड कॉल्स कर फंसाने के आरोप में 45 लोगों को अरेस्ट किया गया है, जिनमें से 22 महिलाएं हैं। पुलिस ने बताया है कि इन लोगों के पास फ्लिपकार्ट (Flipkart) और मिन्त्रा (Myntra) के ढेरों ग्राहकों की कस्टमर्स डिटेल्स का एक्सैस था।

खुद को IPS अधिकारी बताकर महिलाओं को परेशान करने वाला शख्स गिरफ्तार

Flipkart और Myntra पर उठे सवाल
ऑनलाइन शॉपिंग साइट्स फ्लिपकार्ट और मिन्त्रा की तरफ से अभी इस मामले को लेकर कोई जवाब नहीं आया है। सवाल यह उठता है कि क्या उन्हें इन शॉपिंग साइट्स की ओर से इस डाटा का एक्सैस मिला हुआ था या फिर किसी गलत तरीके से ऐसे स्कैमर्स ने डाटा तक पहुंच बनाई थी।

पुलिस की गिरफ्त में आया विदेशियों को ठगने वाला गैंग, खुद को बताते थे FBI अधिकारी

इस तरह कर रहे थे लोगों के साथ फ्रॉड
फ्रॉड करने वाले ये स्कैमर्स पहले लोगों को कॉल करते थे और उन्हें उनकी ही डिटेल्स बताते थे जोकि इन शॉपिंग साइट्स से इकट्ठा की गई थी। ऐसे में उन्हें भरोसा हो जाता था कि यह कॉल कस्टमर सर्विस डिपार्टमेंट की ओर से ही आई है। इसके बाद यूजर्स से किसी ऑफर या लक्की ड्रॉ की बात कहकर बैंकिंग डीटेल्स ली जाती थी जिससे वह फ्रॉड का शिकार बन जाते थे।

ई-कॉमर्स कम्पनियां परेशान, 5 करोड़ लोगों ने बंद की ऑनलाइन शॉपिंग

स्कैमर्स ने जुटाई थी इस तरह की जानकारी
नोएडा पुलिस (Noida Police) की साइबर क्राइम ब्रांच (Cyber Crime Branch) के सब-इंस्पेक्टर बलजीत सिंह ने बताया कि फ्रॉड कॉल सेंटर से पकड़े गए स्कैमर्स के पास ऑनलाइन शॉपिंग साइट्स के ढेरों ग्राहकों का डाटा था। इसमें यूजर्स के नाम, ईमेल आईडी से लेकर शिपिंग एड्रेस और ऑर्डर आई.डी. तक शामिल थी। इसके अलावा स्कैमर्स के पास फ्लिपकार्ट और मिन्त्रा पर कस्टमर्स की ओर से खरीदे गए प्रोडक्ट्स की हिस्ट्री का डाटा भी मौजूद था।

comments

.
.
.
.
.