Monday, Nov 28, 2022
-->
gfdgfdgfdgfdgdfgfdgdfgdfgdfgfdgfdgfdgfdgdfgfdgfd

नंदनगरी हत्याकांड में लगातार तीसरे दिन भी इलाके में तनाव

  • Updated on 10/3/2022


नंदनगरी हत्याकांड में लगातार तीसरे दिन भी इलाके में तनाव

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। नंदनगरी के सुंदरनगरी में सरेआम सडक़ पर 50 से अधिक चाकू मार हत्या मामले में तीसरे दिन भी इलाके में तनाव रहा। स्थानीय लोग अभी भी पुलिसिया कार्रवाई से संतुष्ट नहीं है,वहीं दूसरी तरफ सोमवार दोपहर के समय नाराज परिजनों ने दिल्ली सीएम का पुतला जलाने का प्रयास किया। पुलिस ने परिजनों व स्थानीय लोगों को ऐसा करने से रोका। बता दे कि हत्या मामले में पुलिस तीना मुख्य आरोपियों को गिरफ्तार कर चुकी है। लेकिन लोगों का कहना है कि इस हत्याकांड में कई और भी लोग शामिल है,जिनकी गिरफ्तारी नहीं की गई है। इस मामले में नार्थ ईस्ट डीसीपी संजय कुमार सैन ने कहा कि सीसीटीवी में सामने आए तीनों युवक गिरफ्तार किए जा चुके हैं, कुछ और नाम सामने आए जिनकी जांच की जा रही है,जिसके बाद अन्य लोगों की गिरफ्तारी की जाएगी।
लोगों का आक्रोश सीएम के खिलाफ, पुतला जलाने का प्रयास...
दोपहर के समय मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल का पुतला बनाकर उसे जलाने का प्रयास किया गया। लेकिन पुलिस ने उनको ऐसा नहीं करने दिया। पुलिस ने लोगों से जबरन पुतला छीन लिया। इस दौरान लोगों से धक्का-मुक्की हुई। मनीष की बहन ने बताया कि भीड़ के बीच वह अपनी मां को तलाश कर रही थी। इस बीच एक महिला पुलिसकर्मी ने उसे बुरी तरह पीट दिया। वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों ने इससे इंकार किया। परिजनों की मांग थी कि मनीष के परिवार को उचित मुआवजा मिले। इसके अलावा दोषियों को जल्द से जल्द फांसी देने के लिए मामला फास्ट ट्रैक कोर्ट में चले।

मृतक की बहन ने महिला पुलिस कर्मियों पर लगाया पिटाई करने का आरोप....
मृतक मनीष की बहन ने महिला पुलिस कर्मियों पर उसको पीटने का आरोप लगाया है। पुलिस मारपीट और धक्का-मुक्की की बात से इंकार कर रही है। फिलहाल लोकल पुलिस के अलावा अर्द्धसैनिक बलों की कई कंपनियां अभी भी तैनात हैं। पुलिस पूरे हालात पर नजर रखे हुए हैं।


मनीष की याद में निकाला कैंडल मार्च....
सोमवार शाम को ही स्थानीय लोगों ने मनीष की हत्या के बाद अब कैंडल मार्च निकालने की भी अनुमति मांगी थी, लेकिन पुलिस की ओर से हालात को देखते हुए इसकी इजाजत नहीं दी गई।
परिजन ने बताया कि दलित मनीष की हत्या के बाद विरोध जताने के लिए स्थानीय लोग कैंडल मार्च भी निकालने की तैयारी कर रहे थे। लेकिन पुलिस की ओर से ऐसी इजाजत नहीं दी। लेकिन देर शाम काफी जद्दोजहद के बाद कैंडल मार्च निकालने की इजाजत दी गई। जिसमें कैंडल मार्च जीटीबी चौक से सुंदर नगरी तक निकाला गया। जिसमें भारी संख्या में स्थानीय लोगों ने भाग लिया सभी ने पोस्टर लिए हुए थे जिन पर लिखा हुआ था मनीष के हत्यारों को फांसी दी जाए।


मोहसिन व शाकिर को मनीष हत्याकांड में बनाया जाए आरोप, लोगों ने की मांग...
स्थानीय लोगों ने मांग की है कि जेल में बंद आरोपी मोहसिन व शाकिर को मनीष हत्याकांड में आरोप बनाया जाए। बता दें कि शनिवार रात को नंद नगरी के सुंदर नगरी इलाके में डीएम कार्यालय के पास तीन लडक़ों बिलाल, फैजान और आलम ने मनीष की चाकू के 50 से अधिक वार कर बेरहमी से हत्या कर दी थी।

बेटे की हत्या से दु:खी मां ने नहीं खाया...
घटना के बाद से मां मिथिलेश ने कुछ नहीं खाया है। वह अपनी सुधबुध खो बैठी है। दिल्ली सरकार को भी परिजनों की खबर लेना चाहिए थी। परिजनों व स्थानीय लोगों ने दिल्ली सरकार से अपनी नाराजगी जाहिर की है।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.