Monday, Sep 27, 2021
-->
Had gone to write a fake case of gang rape with 50 thousand, the alleged journalist arrested

50 हजार लेकर लिखवाने चला था गैंगरेप का फर्जी मुकदमा, कथित पत्रकार गिरफ्तार

  • Updated on 9/15/2021

नई दिल्ली/डिजिटल। पीडि़ता को बिना पुलिस के सामने लाए गैंगरेप का फर्जी मुकदमा दर्ज कराने की एवज में पीडि़ता के परिजनों से 50 हजार रुपए हड़पने वाले कथित पत्रकार को भोजपुर पुलिस ने गिरफ्तार किया है। आरोपी के पास से पुलिस ने पीडि़त पक्ष से हड़पे गए 50 हजार रुपए भी बरामद कर लिए हैं। पुलिस का कहना है कि आरोपी ने खुद को वकील और एक न्यूज चैनल का एडिटर बताया है। वह पुलिस पर गैंगरेप का फर्जी मुकदमा दर्ज कराने का दबाव बना रहा था। 


एसपी ग्रामीण डा. ईरज राजा ने बताया कि पुलिस ने नंदग्राम निवासी परितोष को गिरफ्तार किया है। परितोष मूलरूप से बीबीनगर बुलंदशहर का रहने वाला है। एसपी ग्रामीण की मानें तो भोजपुर थानाक्षेत्र में रहने वाली एक लडक़ी और लडक़ा पक्ष का आपस में विवाद चल रहा है। लडक़ी के परिजन लडक़ा पक्ष पर केस दर्ज कराना चाहते थे। उनकी मुलाकात आरोपी परितोष से हो गई। उसने खुद को वकील और एक न्यूज चैनल का पत्रकार बताते हुए लडक़ी के पिता से कहा कि वह उनकी बेटी के साथ गैंगरेप होने का फर्जी मुकदमा दर्ज करा देगा। इससे दबाव में आकर लडक़ा पक्ष उनसे फैसला करेगा और उन्हें मोटी रकम भी देगा। 


बोला-पुलिस अधिकारियों से है मेरी खासी पहचान
जांच में पुलिस को पता चला कि आरोपी ने लडक़ी के पिता से कहा था कि उसकी पुलिस व प्रशासनिक अधिकारियों से खासी पहचान है। आरोपी परितोष ने पुलिस के नाम पर लडक़ी के पिता से 50 हजार रुपए ले लिए। इसके बाद आरोपी ने पीडि़ता के बजाए अपने ही नाम से सीएम पोर्टल पर शिकायत कर दी। जिसमें पुलिस पर गैंगरेप पीडि़ता की एफआईआर दर्ज न करने का आरोप लगाया। साथ ही एक तहरीर लिखकर सोशल मीडिया में वायरल कर दी। आरोपी द्वारा की गई सीएम पोर्टल पर गंभीर मामले की शिकायत को लेकर पुलिस हरकत में आ गई और मामले की जांच पड़ताल शुरू कर दी। 


पीडि़ता को सामने नहीं ला रहा था आरोपी
बताया गया है कि आरोपी की शिकायत का संज्ञान लेकर पुलिस ने शिकायतकर्ता से बात की और पीडि़ता व उसके परिजनों को थाने बुलाया। लेकिन न तो पीडि़ता और न ही उसके परिजन पुलिस के सामने आए। परितोष ने रिश्वत देकर गैंगरेप का फर्जी मुकदमा दर्ज कराने का प्रयास किया तो उसे गिरफ्तार कर लिया गया। पुलिस का कहना है कि आरोपी परितोष लडक़े के खिलाफ गैंगरेप का झूठा मामला दर्ज कराकर उसे दबाव में लेना चाहता था। उसकी मंशा फैसले पर लडक़ा पक्ष से मोटी रकम लेने की थी। एसपी ग्रामीण ने बताया कि आरोपी के खिलाफ लडक़ी के पिता की तहरीर पर केस दर्ज किया गया। जिसमें उन्होंने परितोष पर झूठा मुकदमा दर्ज कराने की बात कहकर 50 हजार रुपए हड़पने का आरोप लगाया है। 


 

comments

.
.
.
.
.