Thursday, Mar 04, 2021
-->
hathras-case-all-four-accused-charged-for-raping-and-murdering-in-cbi-chargesheet-prsgnt

हाथरस बलात्कार और हत्या मामले में CBI ने चार्जशीट में कहा- पीड़िता का गैंगरेप कर हत्या की गई थी...

  • Updated on 12/18/2020

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। यूपी (Uttar Pradesh) के हाथरस की घटना की जांच में सीबीआई ने अपनी तरफ से मामला साफ़ कर दिया है। इस केस में दलित लड़की से कथित गैंगरेप और यातना के मामले में सीबीआई ने चारों आरोपियों पर गैंगरेप और हत्या का आरोप लगाया है। 

इस मामले में शुक्रवार को जांच कर रही सीबीआई (CBI) ने हाथरस में एक अदालत के सामने चार्जशीट दाखिल की है। इस बारे में आरोपियों के वकील मुन्ना सिंह पुंढीर ने कहा कि सीबीआई ने चारों आरोपियों संदीप, लवकुश, रवि और रामू पर बलात्कार और हत्या का आरोप लगाया गया है। 

Hathras Case: हाईकोर्ट ने सीबीआई से पूछा-कितने समय में पूरी होगी हाथरस घटना की जांच

आरोपियों के वकील ने कहा कि सीबीआई ने आरोपियों के खिलाफ एससी/एसटी एक्ट के तहत भी कई आरोप लगाए हैं। जबकि अक्टूबर में सुप्रीम कोर्ट ने कहा था कि सीबीआई द्वारा की जा रही जांच की निगरानी इलाहाबाद हाईकोर्ट करेगा।  

इससे पहले हाथरस में तब नया मोड़ आ गया था जब आरोपी लवकुश के घर छापा मारा, जहां टीम को ‘खून’ से सने कपड़े मिले हैं। दरअलस, टीम ने हाल ही में आरोपी लवकुश के परिजनों से पूछताछ की साथ ही पूरे घर की तलाशी ली। टीम ने करीब दो घंटे में घर के कोने-कोने को छान मारा इस दौरान टीम ने लवकुश के घर से ‘खून’ से सने कपड़े बरामद किए हैं।

प्रियंका गांधी बोलीं- हाथरस मामले में सुप्रीम कोर्ट का फैसला इंसाफ की उम्मीद 

वहीं दूसरी ओर खून से सने कपड़ों को लेकर लवकुश के भाई का कहना है कि सीबीआई जिन कपड़ों को लेकर गई है वह लवकुश के बड़े भाई रवि के हैं। उसने बताया कि रवि पेंटिंग का काम करते हैं और कपड़ों पर जो लाल रंग लगा हुआ है वो खून नहीं बल्कि पेंट है। बता दें कि सीबीआई टीम हाथरस मामले में हर एंगल से जांच कर रही है। 

बता दें, हाथरस के एक गांव में 14 सितंबर को 19 वर्षीय दलित लड़की से अगड़ी जाति के चार लड़कों ने कथित रूप से बलात्कार किया था। इस लड़की की 29 सितंबर को दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में इलाज के दौरान मृत्यु हो गयी थी। पीड़ित की 30 सितंबर को रात के अंधेरे में उसके घर के पास ही अंत्येष्टि कर दी गयी थी। उसके परिवार का आरोप है कि स्थानीय पुलिस ने जल्द से जल्द उसका अंतिम संस्कार करने के लिये मजबूर किया। स्थानीय पुलिस अधिकारियों का कहना था कि परिवार की इच्छा के मुताबिक ही अंतिम संस्कार किया गया।

यहां पढ़ें अन्य महत्वपूर्ण खबरें-

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.