Tuesday, Oct 26, 2021
-->
he-took-revenge-for-sending-his-father-to-jail-

पिता को जेल भेजवाने का बदला लिया था गोली मारकर

  • Updated on 9/17/2021

नजफगढ हत्या कांड - पिता को जेल भेजवाने का बदला लिया था गोली मारकर

- द्वारका एस टी एफ ने मुख्य आरोपी को पकड़ा, दो की तलाश

नई दिल्ली/टीम डिजिटल।

 

नजफगढ़ में बुधवार रात एक प्रापर्टी कारोबारी अमित शौकीन की हत्या को अंजाम देने वाले एक आरोपी को द्वारका जिला की एसटीएफ ने गिरफ्तार कर लिया है। आरोपी की पहचान 23 वर्षीय दीपक उर्फ राहुल के तौर पर हुई है। उसके पास से हत्या में उपयोग एक शोफीस्टिकेटेड पिस्टल और दो कारतूस मिले हैं।  दीपक ने इस हत्या को अपने पिता के अपमान का बदला लेने के लिए अंजाम दिया था। मृतक अमित शौकीन ने बाबा हरिदास नगर की एक प्रापर्टी को लेकर उसके पिता को बेइज्जत किया था और बाद में हत्या के प्रयास के फर्जी मामले में उन्हें जेल भिजवाया था और अब उसे भी फर्जी मामले में जेल भिजवाने की धमकी दे रहा था। इसमे उसका एक भाई और दोस्त भी शामिल है, जिनकी पुलिस तलाश में जुटी है।  

डीसीपी द्वारका संतोष कुमार मीणा ने बताया कि 15 सितंबर की रात नजफगढ़ के अजय पार्क में अमित को तब गोली मारी गई जब वे अपने दो दोस्तों के साथ शराब खरीदने के लिए कार से निकला था। आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए जिले की स्पेशल टास्क फोर्स की टीम लगातार लगी थी। इंस्पेक्टर पवन तोमर के नेतृत्व में सब इंस्पेक्टर विवेक मैंडोला, एएसआइ रंधावा, अशोक, राकेश टेक्निकल व मन्नुअल सर्विलांस से आरोपियों की तलाश में जुटी थी। टीम द्वारा घटनास्थल के आस पास के सीसीटीवी कैमरे के फुटेज को खंगालने पर आरोपी की पहचान कृष्ण के रूप में हुई। जांच में पता चला कि मृतक अमित का ककरौला डेयरी निवासी कृष्ण से प्रापर्टी को लेकर विवाद चल रहा था। वारदात में उसके साथ उसका भाई दीपक भी शामिल था। वह फरार है। इसी दौरान टीम को सूचना मिली कि दीपक धूलसिरस गांव आने वाला है। सूचना पर पुलिस ने इलाके में घेराबंदी कर उसके पहुंचते ही उसे गिरफ्तार कर लिया। पूछताछ में आरोपी ने पुलिस को बताया कि इस साल जनवरी में मृतक अमित शौकिन ने बाबा हरिदास नगर में एक प्रापर्टी को लेकर उसके पिता जयभगवान को बेइज्जत किया था। बाद में उन्हें हत्या के प्रयास के झूठे मामले में फंसाकर जेल भिजवा दिया। इस मामले में उसका भाई कृष्ण भी वॉन्टेड है। अमित शौकीन उसे भी झूठे मामले में फंसाने की धमकी दे रहा था। जिसका बदला लेने के लिए उसने अपने भाई कृष्ण और सावदा निवासी दर्शन डबास के साथ मिलकर उसकी हत्या की इस वारदात को अंजाम दिया। इसके लिए उसने अपने एक दोस्त से उसकी कार ली थी।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.