Sunday, May 26, 2019

हाई अलर्ट : दिल्ली और यूपी के रेलवे स्टेशनों को उड़ाने की मिली धमकी

  • Updated on 5/16/2019

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। पुलिस अधिकारियों की सरकारी ईमेल आईडी पर आए धमकी भरे संदेश में दिल्ली के निजामुद्दीन, यूपी के गाजियाबाद, मेरठ और शामली सहित करीब चार रेलवे स्टेशनों को बम से उड़ाने की धमकी दी गई है। ईमेल में अगले 72 घंटे में इन्हें बम से उड़ाने की धमकी दी गई है। दो लाइन के धमकी भरे संदेश सीधे उप्र पुलिस के सुरक्षा मुख्यालय लखनऊ की ईमेल आईडी पर भी भेजा गया है। इसके बाद पूरे पुलिस महकमे में हड़कंप मच गया। शायद ऐसा पहली बार है, जब पुलिस अधिकारियों की ईमेल पर मैसेज करके ऐसी धमकी दी गई है।

गाजियाबाद के एसएसपी उपेंद्र कुमार अग्रवाल ने बताया कि इस संबंध में पुलिस की ओर से शामली की शहर कोतवाली में केस दर्ज कर लिया गया है। एटीएस, साइबर सेल और सर्विलांस टीमें जांच कर रही हैं। बुधवार शाम को यूपी एटीएस की एक टीम ने शामली पहुंचकर छानबीन की। पता लगाया जा रहा है कि ईमेल कहां से आई। इसके लिए ईमेल सर्विस प्रोवाइडर कंपनी का सहारा लिया जा रहा है। उधर, गाजियाबद के भी साइबर विशेषज्ञ, सर्विलांस सेल और एलआईयू की टीम को अलर्ट कर दिया गया है। इसके साथ ही प्रमुख थानों, कोतवाली विजयनगर, सिहानीगेट, मसूरी, मोदीनगर, इंदिरापुरम, साहिबाबाद, लोनी बॉर्डर थाने की पुलिस को होटलों, स्टेशनों, बस अड्डा, मॉल-मल्टिप्लेक्स में सख्त चेकिंग और संदिग्धों पर नजर रखने के निर्देश दिए गए हैं।

जैश के और आतंकी जल्द होंगे गिरफ्तार
सोपोर जिला, जम्मू कश्मीर का रहने वाला जैश-ए-मोहम्मद का आतंकी अब्दुल मजीद बाबा की गिरफ्तारी के बाद स्पेशल सेल की टीम जल्द ही कुछ और आतंकियों को जल्द ही गिरफ्तार कर सकती है। सेल की टीमें मजीद बाबा से पूछताछ कर अन्य आतंकियों के ठिकाने का पता कर रही है। बताया जा रहा है कि सेल की कई टीमें बशीर की गिरफ्तारी के लिए लगातार छापेमारी कर रही है। सेल के आलाधिकारी के ने भी इस बात की पुष्टि की है, लेकिन अभी ज्यादा कुछ भी बताने से बचते रहे।  ज्ञात हो कि सेल की टीम ने श्रीनगर से जैश ए मोहम्मद के आतंकी अब्दुल मजीद बाबा को कश्मीर से गिरफ्तार किया था। उस पर दिल्ली पुलिस ने दो लाख का इनाम घोषित कर रखा था। वह 2007 में कारोबार छोड़ आतंकी गतिविधियों में शामिल हो गया। उसके बाद देखते देखते पाकिस्तान में बैठे आकाओं के आदेश पर भारत में आतंकी हमले में शामिल हो गया। वह अपने पड़ोसी युसूफ के साथ आतंकी गतिविधियों में लिप्त हो गया। वह फैयाज व बशीर के साथ मिलकर पाकिस्तानी शाहिद गफूर के कहने पर विस्फोटक व हथियार दिल्ली लाया था।

स्पेशल सेल के डीसीपी संजीव कुमार यादव के मुताबिक पिछले पांच सालों से वह फरार चल रहा था। 25 मार्च को सेल ने इसके साथी फैयाज अहमद लोन को भी श्रीनगर से ही गिरफ्तार किया था। वर्ष 2007 में इन्हें दो अन्य आतंकियों के साथ दीन दयाल उपाध्याय मार्ग से भारी मात्रा में विस्फोटक के साथ गिरफ्तार किया गया था। 2013 में पाकिस्तानी आतंकी शाहिद गफ्फूर को छोड़कर बाकी तीन कश्मीरी आतंकी मजीद, फैयाज और बशीर को दिल्ली की निचली अदालत ने बरी कर दिया था। बाद में हाईकोर्ट में मजीद बाबा समेत तीनों आतंकियों को दोबारा दोषी पाया था।

 

 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.