Sunday, May 22, 2022
-->
husband was becoming a hindrance in love, then murdered with lover

पति बन रहा था प्यार में बाधक, तो प्रेमी के साथ मिकर कर दी हत्या

  • Updated on 5/13/2022

 बिल्डिंग के पांचवीं मंजिल पर पत्नी और बच्चों के साथ किराये पर रहता था युवक

- बताया वारदात के समय नहीं थी  घर में, युवक के ससुर घर में पहुंचा तो मिली थी जानकारी

- पत्नी के हाव भाव पर शक होने पर पुलिस को हुआ था संदेह, आरोपी व प्रेमी गिरफ्तार 
नई दिल्ली, 13 मई (नवोदय टाइम्स):


दक्षिणी पूर्वी दिल्ली के कालकाजी इलाके में पत्नी ने ही प्यार में बाधक बनने पर प्रेमी के साथ मिलकर पति  की गला रेत कर हत्या कर दी है. घटना शुक्रवार सुबह की है। आरोपी पत्नी ने खुद पुलिस की नजरों  से बचने के लिए हत्या के बाद वहां  से गायब हो गयी। पर मृतक के परिजनों  द्वारा संदेह जताने व उसके हव भाव ने पसकी पोल खोल दी। इसके बाद पुलिस ने हिरासत में लेकर जब सख़्ती से पूछताछ की तो उसने जुर्म कबूल कर लिया। इसके बाद पुलिस ने आरोपी महिला  सोनाली व प्रेमी मोहन उर्फ़ संटू  को गिरफ्तार कर लिया है।

 

 डीसीपी ईशा  पाण्डेय ने बताया की सुबह करीब 11.30 में पुलिस को घटना की कॉल मिली थी। कॉलर ने बताया था की उसका दामाद 37 वर्षीय अर्जुन घोष कालकाजी के 8 ब्लॉक, फ्लैट नम्बर 238 में बेड पर खून से लथ पथ पड़ा है.सूचना मिलते ही मौके पर स्थानीय पुलिस और क्राइम की टीम पहुंच शव को कब्जे में ले लिया। साथ ही पुलिस घर को सील कर वहां से सुराग जुटाने में लग गई । साथ ही घर के लोगों से पूछताछ शुरू  की. पता चला की अर्जुन घोष गत छह माह से  की पांचवीं मंजिल पर अपनी पत्नी सोनाली और दो बच्चों के साथ किराये पर रह रहा था। उसकी पत्नी इलाके में ही घरेलु सहायिका का काम करती थी। वह खुद की ओला कैब चलाया करता था। पूछताछ  में पत्नी ने बताया की वह  घरेलु सहायिका का काम करती है और रोज की तरह  सुबह 5 बजे ही काम पर चली गई थी। मदनपुर खादर निवासी अर्जुन के भाई ने बताया कि उनके भाई और भाभी के बीच काफ़ी झगडे होते थे.

 

घर में सुरक्षित मिले तीन मोबाइल व लैपटॉप पर हुआ संदेह

 

पुलिस को जाँच के दौरान पता चला  की  हमला करने वाला जानकार था, क्योंकि दवाजा अर्जुन ने ही खोला होगा, अगर वे जबरन घुसते तो आस पास के लोगों को कुछ तो जानकारी मिलती। घर के सामान भी सुरक्षित मिले । एक लैपटॉप और तीन मोबाइल सुरक्षित कमरे के टेबल पर मिले. वही आरोपी महिला इसे लूटपाट साबित करने में लगी थी। प्राथमिक जांच में मृतक के गले पर रेते जाने के निशान के साथ ही चेहरे व शरीर पर धारदार हथियार के वार के कई निशान भी मिले 

 

प्रेम पसंग का पता चलने पर कर रहा था विरोध

 

महिला ने बताया की उसका संटू  से कई महीनों से प्रेम प्रसंग चल रहा था. जिसका पता उसके पति को चल गया था. जिसका vah विरोध कर रहा था। वह पति को छोड़ना भी नहीं चाहती थी, क्योंकि दोनों के दो बच्चे थे। जब उसे कोई और रास्ता नहीं सूझ तो हया की योजना बना ली. पहले पास में रहने वाले अपने माता पिता के पास दोनों बच्चों को भेज दिया देर रात में प्रेमी को बुला कर हत्या को अंजाम दे दिया. फिर  सुबह काम पर भी चली गयी.

comments

.
.
.
.
.