Friday, Apr 03, 2020
hyderabad gang rape murder case from darjee to encounter, know the whole story

हैदराबाद गैंगरेप- मर्डर केस: दरिंदगी से एनकाउंटर तक, जानें पूरी कहानी

  • Updated on 12/6/2019

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। हैदराबाद (Hyderabad) में डॉक्टर से हुई दरिंदगी और फिर निर्मम हत्या के चारों आरोपी पुलिस एनकाउंटर में ढेर कर दिए गए। बताया जा रहा है कि चारों आरोपियों को पुलिस एनएच-44 पर क्राइम सीन रिक्रिएट कराने के लिए लेकर गई थी। वहीं चारों आरोपियों ने मौके से भागने की कोशिश की जिसमें पुलिस ने चारों आरोपियों को वहीं ढ़ेर कर दिया। 

हैदराबाद में महिला डॉक्टर के शब मिलने के बाद से ही इस धटना ने पूरे देश को हिला कर रख दिया। अरोपियों के खिलाफ देश में आक्रोश चरम पर था। लोगों ने सशोल मीडिया से लेकर सड़को पर आंदोलन किया। इस घटना में चारों अरोपियों के एनकाउंटर के बाद सभी लोग खुशी जता रहे हैं।  

हैदराबाद एनकाउंटर पर केजरीवाल ने दी कड़ी प्रतिक्रिया, उठाए सवाल

दरअसल 27-28 नवंबर की दरम्यानी रात को हैदराबाद में महिला डॉक्टर के साथ हैवानियत की वारदात को अंजाम दिया गया। जिसमें  हैवानों ने पहले महिला के साथ गैंगरेप किया फिर बाद में उसे जला दिया। महिला का शव बेंगलुरु हैदराबाद राष्ट्रीय राजमार्ग पर अंडरपास के पास मिला था।

28 नवंबर
देश को झनझोर कर रख देने वाला ये  मामला 28 नवंबर को देश के सामने आया। जब सरकारी अस्पताल में बतौर सहायक पशु चिकित्सक काम करने वाली 25 वर्षीय महिला का अधजला शव शाननगर में एक पुल के नीचे मिला।

हैदराबाद एनकाउंटर पर अनिल विज बोले- क्या हुआ, कैसे हुआ, लेकिन ठीक हुआ

29 नवंबर
महिला का शव मिलने के बाद इस मामले में चार लोगों को महिला डॉक्टर से बलात्कार और उसकी हत्या के आरोप में गिरफ्तार किया गया। जिसमें चारों की उम्र 20 से 24 साल के बीच थी। गिरफ्तारी के बाद आरोपियों को 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया। 

आरोपियों के नाम शिव, नवीन, मोहम्मद आरिफ, और सी चेन्नकेशवुलु था। बताया जा रहा है कि वारदात को अंजाम देने से पहले चारों ने टोंडूपल्ली टोल प्लाजा पर शराब पी थी। साइबरबाद पुलिस को शादनगर अडरपास के नीचे पीड़ीता का जला हुआ शव मिलने के बाद सबसे पहला सुराग एक टायर मकैनिक से मिला। 

इस घटना की जांच कर रहे साइबराबाद के पुलिस कमिश्नर वीसी सज्जनार ने बताया कि पूरी साजिश के तहत इस घटना को अंजाम दिया गया था। पीड़िता की मां ने सभी दोषियों को सबके सामने जिंदा जलाने की मांग की। परिवारवालों ने ये भी कहा कि पुलिस ने तत्काल कार्रवाई की होती तो पीड़िता को बचाया जा सकता है। 

चारों आरोपियों की ओर से वकीलों ने केस न लड़ने का फैसला किया। वहीं शादनगर बार असोसिएशन ने शनिवार को ऐलान किया कि डॉक्टर से रेप करने वाले चारों आरोपियों को किसी भी तरह की कानूनी मदद नहीं दी जाएगी। 

#HyderabadEncounter: लोगों की खुशी बता रही है, देश का क्रिमिनल जस्टिस सिस्टम फेल- AAP सांसद

30 नवंबर
तेलंगाना के मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव ने तेजी से मुकदमा चलाने के लिए फास्ट ट्रैक अदालत के गठन की घोषणा की। वहीं राष्ट्रीय महिला आयोग की टीम ने पिड़िता के परिवारवालों से मुलाकात की और मामले में सवाल उठाए।

1 दिसंबर
साइबराबाद के पुलिस कमिश्नर वीसी सज्जनार ने तीन पुलिसकर्मियों को निलंबित कर दिया। पुलिस महानिदेशक एम महेंद्र रेड्टी ने मामले में अब तक हुई कार्रवाई की समीक्षा की।

Hyderabad: रेप- मर्डर केस के आरोपियों के एनकाउंटर से लोग खुश, पुलिस पर बरसाए फूल

एनएसयूआई और भारतीय युवा कांग्रेस ने रेप और हत्या के इस मामले के खिलाफ मार्च निकाला। 

2 दिसंबर
संसद में डॉक्टर के साथ गैंगरेप और हत्या के मामले को उठाया गया। 

3 दिसंबर
दिल्ली में महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल ने कड़े कानून की मांग को लेकर अनशन करने का फैसला किया। 

जेल में बंद चार आरोपियों में से एक ने किडनी की बीमारी का इलाजद मुहैया कराने की मांग की। 

हैदराबाद एनकाउंटर: इससे दिल्ली पुलिस को लेनी होगी सीख- अलका लांबा

4 दिसंबर
मामले की सुनवाई के लिए महबूबनगर जिला अदालत में जल्द एक विशेष कोर्ट के गठन का ऐलान हुआ।

6 दिसंबर
पुलिस जांच और क्रइम सीन रिक्रियएट करने के लिए चारों आपोरियों को मौका-ए-वारदात पर लेकर गई, जहां चारों आरोपियों ने भागने की कोशिश की जिसमें पुलिस ने एनकाउंटर कर चारो आरोपियों को मार गिराया। 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.