Sunday, Mar 24, 2019

14 मामलों में कोर्ट से घोषित भगोड़ा चढ़ा पुलिस के हत्थे, फर्जी कंपनी बनाकर की ठगी

  • Updated on 3/13/2019

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। अमर कॉलोनी थाने की पुलिस टीम ने एक ऐसे ठग शिक्षक को गिरफ्तार किया है, जो अपने साथियों के साथ फर्जी कंपनी खोल व्यवसायियों से सामान ले लेता था। फिर उन्हें एडवांस चेक पकड़ा देता था। जब व्यसायी चेक बैंक में डालते तो वह बाउंस हो जाता। 

जब तक आरोपी दुकान बंद कर साथियों के साथ गायब हो जाता था। गिरफ्तार रणजीत नगर निवासी मनीष कौशिक (36) नामक ने  इसी तरह से पच्चीस से ज्यादा लोगों को अपना शिकार बनाकर एक करोड़ से ज्यादा की ठगी की थी। इनमें से 14 मामलों में कोटज़् द्वारा आरोपी को भगोड़ा घोषित कर चुकी थी।

 विदेशियों के साथ ठगी करने वाले गैंग का हुआ पर्दाफाश, छह बदमाश पुलिस की गिरफ्त में

डीसीपी चिन्मॉय बिश्वल ने बताया वर्ष 2015-16 में आरोपी ने अपने एक साथी गौरव चौधरी के साथ मिलकर अमर कॉलोनी इलाके में किराए पर दो ऑफिस लिए थे, जिसमें दोनों ने दो फर्जी कंपनी खोली थी। दोनों ने अपने को कंपनी का निदेशक बता रखा था।

दोनों ने कंपनी के नाम पर इलाके के इलेक्ट्रॉनिक कारोबारियों से काफी संख्या में लैपटॉप, कम्पयूटर, आरओ वाटर प्यूरीफायर, कपड़े आदि सामान खरीदे थे। इसके लिए एडवांस के रूप में मामूली रकम दी थी और आपूर्ति के बाद सभी को चेक दिया था। पर जब उन कारोबारियों ने चेक बैंक में डाला तो वह बाउंस हो गए।

राजधानी में बरपा तेज रफ्तार और नशे का कहर, कार खेत में पलटी, 4 लोग घायल

उधर दोनों ऑफिस खाली कर वहां से फरार हो गए। सभी पीड़ितों ने इसकी शिकायत पुलिस में दी थी। साकेत कोर्ट में उस पर सुनवाई के बाद 14 मामलों में मनीष को भगोड़ा घोषित कर दिया था। 

इसी दौरान 10 मार्च को पुलिस को उसके रंजीत नगर में होने की सूचना मिली। सूचना के आधार पर अमरकॉलोनी थाना की टीम ने रणजीत नगर पहुंच आरोपी को गिरफ्तार कर लिया।

प्रवर्तन निदेशालय को मिली क्रिश्चियन मिशेल से पूछताछ करने की अनुमति

पूछताछ में पता चला कि आरोपी ने स्नातक तक की पढ़ाई की है और पहले वह एक निजी कम्पनी में काम करता था। हालांकि कम वेतन मिलने के कारण असंतुष्ट था और फिर उसने अपने सहयोगी के साथ मिलकर ठगी का धंधा शुरू किया।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.