Friday, Dec 02, 2022
-->
itbp starts rescue operation at ramban landslide site

आईटीबीपी ने रामबन में हुए भूस्खलन स्थल पर शुरू किया बचाव अभियान

  • Updated on 5/20/2022


 15वीं बटालियन के जवान एक स्निफर डॉग के साथ कर रहे हैं फंसे मजदूरों की तलाश

नई दिल्ली/टीम डिजिटल।



जम्मू कश्मीर के रामबन में वीरवार रात अचानक हुए भूस्खलन के मलबे में फंसे 9 मजदूरों की खोज और बचाव के लिए भारत-तिब्बत सीमा पुलिस (आईटीबीपी) ने अभियान शुरू कर दी है। यह अभियान खूनी नाला, रामबन के पास सुरंग स्थल पर चलाई जा रही है। इस अभियान को 15वीं बटालियन आईटीबीपी के जवान एक स्निफर डॉग के साथ चला रहे हैं।

सुरंग एक नई परियोजना थी और केवल 3 से 4 मीटर की खुदाई की गई थी। जब कल रात करीब 10.15 बजे भूस्खलन हुआ जिसमें वहां काम करने वाले मजदूर फंस गए। भूस्खलन में कई ट्रक, खुदाई करने वाले और अन्य वाहन पूरी तरह क्षतिग्रस्त हो गए। यह कथित तौर पर कुछ सुरंग 4 के लिए एक आडिट टनल था जिसका इस्तेमाल एस्केप टनल के रूप में किया जाना था। फंसे हुए 9 में से 5 पश्चिम बंगाल के, 1 नेपाल के, 1 असम के और 2 स्थानीय बताये जा रहे हैं।

भूस्खलन में 3 व्यक्ति घायल हो गए थे और जिन्हें पहले बाहर निकाला गया था।

पश्चिम बंगाल के एक व्यक्ति का शव आज मलबे से निकाला गया। अर्थ मूवर्स का उपयोग उस स्थल पर भारी पत्थरों को साफ करने के लिए किया जा रहा है जो लगभग 50 गुणा 50 मीटर के क्षेत्र में टन मलबे से पूरी तरह से ढका हुआ है।
शाम करीब 4.40 बजे, एक ताजा भूस्खलन और मौके पर बारिश ने बचाव प्रयासों को रोक दिया है। पत्थर गिरने और पत्थर गिरने के कारण बचावकर्मियों और मशीनों को रुकने के लिए कई बार बचाव अभियान रोकना पड़ा है । खूनी नाला, जिसके पास मेकारकोट, रामबन के पास एक सुरंग की खुदाई हो रही थी, अतीत में सडक़ हादसों और दुर्घटनाओं में लोगों के हताहत होने के लिए जाना जाता है। इसे कभी-कभी किलर रिवलेट भी कहा जाता है।
 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.