Tuesday, Nov 30, 2021
-->
j&k: security forces took revenge, lashkar commander omar mushtaq was killed musrnt

J&K: सुरक्षा बलों ने लिया बदला, लश्कर कमांडर उमर मुश्ताक को किया ढेर

  • Updated on 10/16/2021

नई दिल्ली / टीम डिजिटल। जम्मू- कश्मीर के पुलवामा में सुरक्षा बलों को बड़ी सफलता मिली है। सुरक्षा बलों ने जिले के पंपोर इलाके में सुबह से चल रहे एनकाउंटर के बाद लश्कर ए तैयबा के टॉप कमांडर उमर मुश्ताक खांडे को ढेर कर दिया है। उसके एक साथी को भी मार गिया गया। पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने शनिवार को यह जानकारी दी।

कश्मीर जोन के पुलिस अधिकारी ने बताया कि लश्कर के आतंकवादी उमर मुस्ताक खांडे श्रीनगर के बघाट में एसजीसीटी मोहम्मद यूसुफ और कॉन्स्टेबल सुहैल को शहीद कर दिया था। पुलिस ने बताया कि एनकाउंटर में दो आतंकवादी मारे गए। मारे गए आतंकियों के पास हथियार और गोला-बारूद सहित आपत्तिजनक सामग्री बरामद हुई है।

आतंकवादी संगठन लश्कर-ए-तैयबा का कमांडर उमर मुश्ताक खांडे को जम्मू- कश्मीर के पुलवामा जिले के पंपोर इलाके में सुरक्षा बलों ने आज सुबह से ही घेर रखा था। खांडे उन आतंकवादियों में शामिल है, जिन्हें इस साल अगस्त में पुलिस द्वारा एक हिटलिस्ट जारी किए जाने के बाद से सुरक्षा बल निशाना बना रहे हैं।

पुलिस महानिरीक्षक (कश्मीर) विजय कुमार ने ट्वीट किया कि खांडे इस साल की शुरुआत में श्रीनगर जिले के बघाट में दो पुलिसकर्मियों की हत्या की घटना में कथित रूप से शामिल था। उन्होंने ट्वीट किया, ‘श्रीनगर के बघाट में दो पुलिसकर्मियों की हत्या और आतंकवाद से जुड़े अन्य अपराधों में शामिल शीर्ष 10 आतंकवादियों में शामिल लश्कर का कमांडर उमर मुस्ताक खांडे पंपोर में फंसा है।’

खांडे ने 8 महीने पहले श्रीनगर में दो पुलिस जवानों की हत्या कर दी थी। पुलिस के निशाने पर शीर्ष दस आतंकियों में सलीम पार्रे, युसुफ कांतरु, अब्बास शेख, रियाज शेटरगंड, फारूक नाली, जुबैर वानी, अशरफ मोलवी, शाकिब मंजूर, उमर मुस्ताक खांडे और वकील शाह का नाम था। आइजीपी विजय कुमार ने बताया कि जम्मू कश्मीर में अब तक हुए 8 एनकाउंटरों में सुरक्षाबल ने कुल 11 आतंकियों को ढेर करने में सफलता हासिल की है।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.