Friday, May 07, 2021
-->
kanpur the truck was crushed by the father of the gang rape victim in front of the police prshnt

कानपुर: गैंगरेप पीड़िता के पिता को ट्रक ने कुचला, मुख्य आरोपी दारोगा का बेटा गिरफ्तार

  • Updated on 3/10/2021

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) में लगातार आपराधिक घटना सामने आ रहा है। अब यूपी के कानपुर (Kanpur) में एक गांव में गैंगरेप (Gangrape Case) की शिकार लड़की के पिता को बेहरहमी से मौत के घाट उतार दिया गया। पीड़िता के पिता को पुलिस और पीड़ित बेटी की नजरों के सामने ट्रक ने रौंद दिया। हादसे के बाद घायल पिता को घाटमपुर सीएचसी ले जाया गया, जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। घटना के तुरंत बाद पुलिस लड़की और उसके पिता का शव लेकर जिला मुख्यालय आ आई। फिलहाल के लिए शव मॉच्युरी में रखवा दिया गया है।

इस घटना के बाद किशोरी के गांव के लोगों ने आनूपुर मोड़ पर कानपुर-सागर हाईवे जाम कर दिया है। इसके बाद पुलिस ने गैंगरेप के मुख्य आरोपी दारोगा के बेटे को गिरफ्तार कर लिया है। बता दें कि आरोपी के दारोगा पिता बांदा में तैनात है।

प्रसिद्ध वैज्ञानिक यू आर राव को गुगल ने किया याद, डूडल बनाकर दी श्रद्धांजलि

किशोरी के साथ सोमवार रात हुआ था दुष्कर्म 
बता दें कि दीपू यादव जो बांदा में तैनात दारोगा देवेंद्र यादव का बेटा है ने अपने साथी गोलू यादव के साथ मिलकर सजेती क्षेत्र की किशोरी के साथ सोमवार रात दुष्कर्म किया था। इसके बाद जब मंगलवार सुबह पीडित परिवार सजेती थाने आ रहा था तो दारोगा के बड़े बेटे ने उन्हें घेर लिया और जान से मारने की धमकी दी। जब किसी तरह पीड़िता सजेती थाने पहुंची तब पुलिस ने दिनभर पंचायत की और शाम 6 बजे दुष्कर्म का मुकदमा दर्ज किया।

कार्यवाई में देरी के बाद और गैंगरेप का मामला होने के नाते रात 12 बजे पुलिस के साथ किशोरी का पिता भी मेडिकल कराने के लिए पुलिस काशीराम संयुक्त जिला चिकित्सालय लेकर निकली और रात दो बजे किशोरी का मेडिकल कराया। मेडिकल के बाद पुलिस किशोरी और उसके पिता को कांशीराम अस्पताल से लेकर सजेती थाने पहुंची।

निजीकरण के विरोध ने कर्मचारियों ने बुलाई हड़ताल, लगातार 4 दिन बैंक रहेंगे बंद

पुलिस दोनों को लेकर कोतवाली जाने के बजाय घाटमपुर गई
इस घटना को लेकर गांव वालों का आरोप है कि बुधवार तड़के सीओ और इंस्पेक्टर घाटमपुर सजेती थाने पहुंचे किशोरी और उसके पिता दोनों को अपनी गाड़ी में बैठाया और घाटमपुर लेकर निकल गए। बताया जा रहा है कि पुलिस दोनों को लेकर कोतवाली जाने के बजाय घाटमपुर सीएचसी चली गई जिसकी वजहें साफ नहीं है। वहीं मुगल रोड स्थित समुदायिक स्वास्थ्य केंद्र घाटमपुर के सामने पुलिस की जीप से उतरते ही ट्रक ने किशोरी के पिता को रौंद दिया, ऐसे में घटनास्थल पर ही उसकी मौत हो गई।

पीड़िता के पिता की मौत की खबर जब गांव के लोगो तक पहुंची तब गांव वाले सड़क पर आ गए और कानपुर-सागर हाईवे पर आनूपुर मोड़ के पास जाम लगा दिया ऐसे में करीब पांच किलोमीटर लंबा जाम लग गया। ग्रामीणों का आरोप है कि सीओ और घाटमपुर एसओ पीड़ित परिवार को धमकाते रहे। आशंका है कि ट्रक के आगे धकेल दिया गया।

यहां पढ़े अन्य बड़ी खबरें...

comments

.
.
.
.
.